टीम इंडिया ने भारत और इंग्लैंड के बीच चल रही टेस्ट सीरीज के तीसरे टेस्ट में बड़ी जीत दर्ज करते हुए सीरीज में शानदार वापसी की. इस टेस्ट में भारत के  युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत ने अपना टेस्ट करियर का आगाज किया और पहले ही मैच में सात कैच पकड़ने का रिकॉर्ड बना डाला. पंत का कहना है कि भारत ए टीम के साथ इंग्लैंड दौरे से उन्हें टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण के साथ तेज और उछालभरी गेंदबाजी का सामना करके अच्छे प्रदर्शन में मदद मिली. बीस बरस के पंत ने इस मैच में सात कैच के अलावा पहली पारी में छक्के से शुरुआत करते हुए 24 रन भी बनाए.

पंत ने कहा, ‘‘इंग्लैंड में विकेटकीपिंग हमेशा कठिन होती है क्योंकि गेंद विकेट के पीछे लड़खड़ाते हुए आती है. मैं पिछले ढाई महीने से इंग्लैंड में भारत ए के लिये खेल रहा हूं जिससे काफी फायदा मिला है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं नेट पर अभ्यास कर रहा हूं कि तेज गेंदों से कैसे निपटना है और इसका फायदा मिल रहा है.’’ टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण पर उन्होंने कहा ,‘‘यह बेहतरीन मौका है. मैं आईपीएल और घरेलू क्रिकेट में इन सभी के साथ खेल चुका हूं लेकिन देश के खिलाफ खेलने का अहसास ही अलग है. टेस्ट क्रिकेट खेलना मेरा सपना था.’’

सफलता का श्रेय द्रविड़ को यूं देते हैं पंत
रूड़की से आकर दिल्ली में क्रिकेट खेलने वाले पंत ने अपनी कामयाबी का श्रेय भारत ए के कोच राहुल द्रविड़ और अपने बचपन के कोच तारक सिन्हा को दिया. उन्होंने कहा, ‘‘मैने शून्य से शुरूआत की थी लेकिन जब आप कड़ी मेहनत के साथ अपने लक्ष्य की ओर बढते हैं तो उसे हासिल कर लेते हैं. मैं राहुल द्रविड़ सर का शुक्रगुजार हूं और अपने बचपन के कोच राहुल सिन्हा का भी. उन्होंने मेरी जीवन में हर कदम पर मदद की है.’’

0-2 से पिछड़ने के बाद बेहतरीन वापसी की टीम इंडिया ने
टीम इंडिया इस सीरीज में 1-2 सी पीछे चल रही है. इस सरीज का पहला मैच भारत आखिरी पारी में 194 रनों का पीछा करते हुए केवल 31 रनों से हार गया था. जबकि लॉर्ड्स में खेले गए दूसरे टेस्ट में टीम इंडिया को एक पारी और 159 रनों की करारी हार मिली थी जिसमें टीम इंडिया की, खासकर उसके बल्लेबाजों की कड़ी आलोचना हुई.

इसके बाद टीम ने वापसी करते हुए इंग्लैंड को तीसरे टेस्ट में 203 रनों से मात दी. इस मैच में टीम इंडिया के बल्लेबाजों ने शानदार बल्लेबाजी की और दोनों ही पारियों में 300 से ज्यादा रन बनाए. वहीं भारतीय तेज गेंदबाजों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए पहली पारी में इंग्लैंड को केवल 161 रनों पर समेट दिया था. जिसके बाद इंग्लैंड मैच में वापसी नहीं कर सका.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here