बिहार में बने इंजन से दौड़ेगी देश की ट्रेनें, अक्टूबर से हो जाएगा काम शुरू

राष्ट्रीय खबरें

पटना : मधेपुरा विद्युत रेल इंजन कारखाना में अक्टूबर से इंजन बनाने का काम शुरू कर दिया जाएगा। फरवरी में पहला इंजन तैयार हो जाएगा। पहले पांच रेल इंजन की असेंबलिंग होगी। इसके लिए फ्रांस से पुर्जे मंगाए गए हैं। अक्टूबर के पहले सप्ताह में पुर्जे मधेपुरा पहुंच जाएंगे। इसके कुछ दिन बाद ही इंजन को असेंबल करने का काम शुरू कर दिया जाएगा। फरवरी तक पहला इंजन तैयार कर रेलवे को सौंप दिया जाएगा।

पहला इंजन तैयार होने के बाद कारखाने का विधिवत शुभारंभ किया जाएगा। रेलवे ने कारखाना के उद्घाटन के लिए फ्रांस राष्ट्रपति एवं पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र भेजा है। फ्रांस के राष्ट्रपति की सहमति अब तक नहीं मिली है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उद्घाटन के दौरान उपस्थित रह सकते हैं। पीएम की महत्वाकांक्षी परियोजना रहने के कारण पीएमओ से लगातार इसकी मॉनीटिरिंग की जा रही है। काम को लेकर कारखाने से जुड़े अधिकारियों की सक्रियता भी बढ़ गई है।

रेलवे बोर्ड के सदस्य ने भी 23 सितंबर को कारखाना का जायजा लिया था। इससे पूर्व एल्सटॉम कंपनी के एमडी सचिन गोयल ने भी यहां निरीक्षण किया था। इस क्रम में एमडी ने टाटा प्रोजेक्ट के अधिकारियों को कई निर्देश दिए। इन्होंने टाटा प्रोजेक्ट्स के अधिकारियों को ससमय कार्य पूर्ण करने को कहा है। मधेपुरा में उच्च क्षमता के रेल इंजन बनाने के लिए रेलवे ने फ्रांस की प्रमुख ट्रांसपोर्ट कंपनी एल्सटॉम से करार किया है। एल्सटॉम एवं रेलवे की संयुक्त साङोदारी में मधेपुरा में 800 रेल इंजन तैयार किए जाने हैं।मधेपुरा विद्युत रेल इंजन कारखाना ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.