Happy Friendship Day: अपने इन दोस्तों पर जान छिड़कते हैं सचिन, धोनी और विराट !

Other Sports

टीम इंडिया के सफलतम कप्तान एम एस धोनी के वैसे तो कई दोस्त हैं, लेकिन क्रिकेट की दुनिया में उनका सुरेश रैना से अच्छा कोई दोस्त नहीं. एम एस धोनी और सुरेश रैना ने लगभग एक साथ क्रिकेट शुरू किया था. धोनी ने जहां 2004 में वनडे डेब्‍यू किया, वहीं रैना एक साल बाद भारतीय क्रिकेट टीम से जुड़े. दोनों ही मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी करते हैं और दोनों के खेलने का तरीका भी लगभग एक सा है. धोनी ने अपनी कप्तानी में सुरेश रैना पर जो भरोसा जताया वो किसी से छिपा नहीं है. साथ ही दोनों का आईपीएल करियर भी चेन्नई सुपरकिंग्स से ही शुरू हुआ.

सचिन तेंदुलकर और विनोद कांबली की दोस्ती पूरी दुनिया में मशहूर है, लेकिन टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली से भी उनकी गजब की दोस्ती रही. सचिन और सौरव गांगुली ने बचपन से ही साथ क्रिकेट खेला. अंडर 15 के दिनों में सचिन तेंदुलकर अकसर सौरव गांगुली को परेशान करते थे. जब गांगुली 14 साल के थे तो इंदौर में चल रहे नेशनल कैंप के दौरान सचिन ने गांगुली के कमरे में पानी भर दिया था. उस दौरान गांगुली बिस्तर पर सो रहे थे. साल 1992 वर्ल्ड में गांगुली का सेलेक्शन टीम में नहीं हुआ तो सचिन ने उन्हीं के बल्ले से वर्ल्ड कप खेला था.

विराट कोहली-युजवेंद्र चहल: टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के दोस्तों की फेहरिस्त काफी लंबी है, लेकिन टीम इंडिया के लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल उनके अच्छे दोस्त माने जाते हैं. इस दोस्ती की शुरुआत आईपीएल के दौरान हुई. दोनों आरसीबी के लिए खेलते हैं और कप्तान कोहली को युजवेंद्र पर काफी भरोसा है. युजवेंद्र का फनी होना भी विराट को बहुत पसंद है. विराट अकसर युजवेंद्र चहल की टांग खींचते नजर आते हैं.

टीम इंडिया के विस्फोटक ओपनर रहे वीरेंद्र सहवाग की दोस्ती सचिन, गौतम गंभीर के साथ रही है लेकिन उनके सबसे करीबी दोस्त पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा थे. नेहरा और सहवाग की दोस्ती काफी पुरानी है. दोनों ने साल 1997-98 में क्रिकेट खेलना शुरू किया था. आशीष नेहरा अपने पुराने दिनों में वीरेंद्र सहवाग के साथ स्कूटर पर बैठकर दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में मैच खेलने जाया करते थे.कोटला स्टेडियम जाते समय स्कूटर वीरू चलाते थे और नेहरा उनके किट बैग पर सिर रखकर पीछे सो जाते थे. वापस लौटते समय स्कूटर चलाने की बारी नेहरा की होती थी और सहवाग किट बैग पर सिर रखकर सोते थे.

बहुत कम लोगों को पता है कि राहुल द्रविड़ और अनिल कुंबले के बीच बेहद गहरी दोस्ती है. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ और महान लेग स्पिन अनिल कुंबले ने साथ में टीम इंडिया को कई मैच जिताए हैं. अनिल कुंबले एक आक्रामक स्पिनर थे, जब भी वो गुस्से में होते थे तो सचिन, गांगुली भी उन्हें शांत नहीं करा पाते थे. ऐसे में सिर्फ राहुल द्रविड़ ही ऐसे इंसान थे तो कुंबले को संभालते थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.