केएल राहुल (70) और सुरेश रैना (69) की दमदार बल्लेबाजी समेत गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर टीम इंडिया ने आयरलैंड को दूसरे T-20 इंटरनेशनल मैच में 143 रन के विशाल अंतर से हराया। रनों के लिहाज से टीम इंडिया की T-20 इंटरनेशनल मैंच में यह दूसरी सबसे बड़ी जीत है। इसी के साथ ‘विराट ब्रिगेड’ ने शुक्रवार को दो मैचों की टी-20 इंटरनेशनल सीरीज में आयरलैंड का 2-0 से क्लीन स्वीप किया। आइए इस मैच में बने कुछ खास रिकॉर्ड्स पर एक नजर डालें…

क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में टीम इंडिया की यह सबसे बड़ी जीत है। टीम इंडिया ने निर्धारित 20 ओवर में 4 विकेट खोकर 213 रन बनाए। जवाब में आयरलैंड की टीम 12.3 ओवर में सिर्फ 70 रन पर ढेर हो गई और टीम इंडिया यह मैच 143 रन से जीत गई।

T-20 अंतरराष्ट्रीय इतिहास में संयुक्त तौर पर भी यह दूसरी सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले इसी साल पाकिस्तान ने वेस्टइंडीज को भी दी थी 143 रनों से शिकस्त दी थी। इस मामले में वर्ल्ड रिकॉर्ड है श्रीलंका के नाम है जिसने 2007 में केन्या को 172 रनों से हराया था।

T-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में यह पहला मौका है जब स्क्वाड में रहने के बावजूद विकेटकीपर बल्लेबाज एमएस धोनी को प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं दी गई।

सुरेश रैना ने एक कैलेंडर वर्ष में दूसरी बार टी-20 में 1000 से ज्यादा रन बनाई हैं। इससे पहले साल 2010 में उन्होंने यह कारनामा किया था।

इस मैच में आयरलैंड ने कुल 12 वाइड बॉल फेंके। इससे पहले T-20 अंतरराष्ट्रीय में आयरलैंड ने विंडीज के खिलाफ 2010 में सबसे ज्यादा 11 वाइड बॉल डाले थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here