‘सिंघम’ के सुपरविजन में सब्जीवाले का बेटा निकला निर्दोष, सलाखों से आएगा बाहर

खबरें बिहार की

पटना: मुफ्त में पुलिस वाले को सब्जी न मिली तो नाबालिग को बालिग बनाकर पुलिस ने जेल भेज दिया था। इस मामले में अब पीड़ित परिवार वालों के लिए अच्छी खबर है। इस खबर से परिवार वालों को थोड़ी सी राहत जरूर मिलेगी।

दरअसल, इस केस के बारे में जब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पता चला तो उन्होंने इसकी उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए। इस मामले में सबसे पहले जोनल आईजी नैय्यर हसनैन खां ने जांच की। पहले अनुसंधान के रिपोर्ट में यह पाया गया कि बच्चे पर जो भी आरोप लगे हैं वह बेबुनियाद हैं।

इसके बाद पटना एसएसपी मनु महाराज को तीन दिनों में जांच कर सुपरविजन रिपोर्ट सौंपने को कहा गया। जिसके बाद शनिवार को रिमांड होम में बंद पंकज कुमार को रिहा करने के लिए कोर्ट में आवेदन दिया गया है। वहीं, एसएसपी मनु महाराज द्वारा किए गए सुपरविजन में सब्जी विक्रेता के बेटे पंकज को निर्दोष बताया है।

पुलिस ने सीआरपीसी की धारा-196 के तहत आवेदन दाखिल किया है और कोर्ट से पंकज की रिहाई हेतु अपील की है। गौरतलब हो की आईजी नैय्यर हसनैन खां ने इस मामले का निष्पक्ष जांच करते हुए एक पूरे थाने के सभी पुलिस पदाधिकारी और पुलिसकर्मी को दोषी पाते हुए तत्काल प्रभाव से निलंबित करत दिया और विभागीय कार्रवाई का आदेश दिया था।

Source: Etv Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.