IIT दिल्ली के छात्रों ने बनाई ऐसी पट्टी.. जलने का निशान हमेशा के लिए हो जाएगा गायब

राष्ट्रीय खबरें

IIT दिल्ली के छात्रों ने मिलकर एक ऐसी पट्टी तैयार की है जो ब’र्न इं’जरी के इ’लाज के लिए रामबा’ण साबित हो सकती है। इसका इस्तेमाल सेकेंड डिग्री बर्न इंजरी के लिए किया जा सकता है, यानी वो इंजरी जिनके घाव गहरे होते हैं। या जो घाव त्वचा का दूसरी सतह तक पहुंच जाते हैं। इस चमत्कारी पट्टी को गोपेन्द्र, आराधना और कीर्तिका की प्रोफेसर्स के साथ मिलकर तैयार किया है।

इस पट्टी की मदद से घाव औसतन आधे वक़्त में भर जाता है। और हैरानी की बात ये बर्न इंजरी का कोई निशान भी नहीं रहता। इस पट्टी का सफल परीक्षण एम्स के साथ मिलकर किया जा चुका है।

इस पट्टी को जेलाटेनी से बनाया गया है।लाटेनी हमारे मसल टिशूज में भी मौजूद होता है। जिसकी वजह से कोलाजन शरीर में अधिक मात्रा में बनेगा। जले हुए घा’वों के निशान पर इसके इस्तेमाल से नई स्किन बनने लगती है और त्वचा पर मौजूद बर्न इंजरी के निशान गायब होने लगते हैं और कुछ दिनों में यह पूरी तरह से गायब हो जाएंगे।

बता दें अभी तक यह पट्टियां अमेरिका जैसे देशों में मिल रही थी। जहां इस तरह की पट्टी की कीमत औसतन 50 हज़ार रुपये है, जबकि आईआईटी दिल्ली के छात्रों ने इसे बेहद कम कीमत में तैयार कर लिया है। भारत में आप इन पट्टियों को 500-1000 रूपये के बीच खरीद सकेंगे और अपने शरीर पर ज’ले हुए निशानों को ख’त्म कर सकेंगे।

आपको बता दें हर साल देशभर में 60 से 70 लाख लोगों को बर्न इंजरी होती है और वह ज’लने से हुए दागों से पीछा छुड़ाने में जिंदगी गुजार देते हैं, लेकिन दाग अं’त तक पीछा नहीं छोड़ते। ऐसे में ये चमत्कारी और किफायती पट्टी ब’र्न इं’जरी के मरीजों के इलाज के लिए बेहद कारगर साबित हो सकती है।

Sources:-Live News

Leave a Reply

Your email address will not be published.