Patna: Success Story Of IAS Himanshu Kaushik – दोस्तों, हर वर्ष यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) देने के लिए लाखों प्रतिभागी अलग-अलग बैकग्राउंड से, तरह-तरह की डिग्रियाँ लेकर और कई बार अपनी नौकरियाँ भी छोड़ कर आते हैं। इनमें से कुछ प्रतिभागी पढ़ाई में टॉपर रहे होते हैं और कुछ सामान्य प्रतिभागी भी होते हैं, परंतु इसका मतलब यह नहीं है कि इस परीक्षा में केवल टॉपर्स ही कामयाब होते हैं। आप चाहे पढ़ाई में अच्छे रहे हो या नहीं लेकिन सिविल सर्विसेज की परीक्षा को पास करने के लिए सभी को मेहनत करनी होती है और उसी के बलबूते पर आप का परिणाम निर्धारित होता है। बहुत से लोग ऐसा भी सोचते हैं कि जो विद्यार्थी पढ़ाई में अच्छे नहीं होते हैं वे इस परीक्षा में सफल नहीं हो सकते हैं, लेकिन वास्तविकता इससे अलग है, बहुत से सफल प्रतिभागियों ने अपने इंटरव्यू में बताया है कि वे पहले पढ़ाई में अच्छे नहीं थे लेकिन इस परीक्षा के लिए उन्होंने बहुत मेहनत की और कामयाबी हासिल की।

हिमांशु कौशिक (IAS Himanshu Kaushik)

ऐसे ही एक सफल प्रतिभागी हैं, दिल्ली के हिमांशु कौशिक (IAS Himanshu Kaushik) , जो पढ़ाई में होशियार नहीं थे इसकी वज़ह से सभी ने उन्हें यूपीएससी जैसे कठिन परीक्षा देने को मना किया लेकिन सभी की बातों को नजरअंदाज करते हुए उन्होंने ख़ुद पर भरोसा किया और मेहनत करके सफल हुए। चलिए जानते हैं इनकी सक्सेस स्टोरी…

10 वीं कक्षा के बाद पढ़ाई में पिछड़ गए थे

हिमांशु दिल्ली में जन्मे और वहीं से उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा भी प्राप्त की। हिमांशु ने 10 वीं में 82 % अंक प्राप्त किए, लेकिन 12वीं कक्षा और बीटेक में वे पिछड़ गए, काफ़ी संघर्ष के बाद भी उन्हें अच्छा परिणाम नहीं मिल पाया। बीटेक में तो एक-दो विषयों में बैक भी लगी थी। यद्यपि बैक लगने के बाद भी उन्होंने 65 % मार्क्स से बीटेक पूरी की। बीटेक करने के बाद हिमांशु को एक कंपनी में नौकरी भी मिल गई थी। लगभग 3 वर्ष तक उन्होंने यह नौकरी की लेकिन फिर उनका मन इस जॉब से ऊब गया था। फिर उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा देने का सोंचा।

लोगों ने कहा-‘तुमसे नहीं होगी यूपीएससी’

हिमांशु ने बताया कि चूंकि वह पढ़ाई में ज़्यादा अच्छे नहीं थे, अतः बहुत से लोगों ने उनसे कहा कि तुम्हें UPSC में अपना समय बर्बाद नहीं करना चाहिए, यह परीक्षा तुम पास नहीं कर पाओगे क्योंकि यह कठिन होती है और इसकी वज़ह से तुम्हें अपनी नौकरी भी गवानी पड़ेगी। परंतु हिमांशु तो निश्चय कर चुके थे कि लोगों की सोच को बदलेंगे और मेहनत करके कामयाबी ज़रूर प्राप्त करेंगे। इसके बाद उन्होंने पूरे जोर-शोर के साथ यूपीएससी परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी। फिर उन्होंने अपनी एक स्ट्रेटजी बनाई और सारा सिलेबस पढ़कर उसी के अनुसार तैयारी की। बस फिर क्या था, उनकी मेहनत रंग लाई और वर्ष 2017 में जब उन्होंने परीक्षा दी तो पहली बार में ही कामयाब हो गए। इतना ही नहीं उन्होंने ऑल इंडिया लेवल पर 77वीं रैंक प्राप्त की और IAS बनकर सभी आलोचकों को हैरान कर दिया।

IAS Himanshu Kaushik के सुझाव

IAS हिमांशु कौशिक का कहना है कि बहुत से छात्र ऐसे भी होते हैं जो यह सोचते हैं कि वे पढ़ाई में ज़्यादा अच्छे नहीं हैं इसकी वज़ह से वे UPSC के एग्जाम में पास नहीं हो पाएंगे। जबकि ऐसा सोचना बिल्कुल ग़लत है। हिमांशु सभी स्टूडेंट्स को सलाह देते हैं कि चाहे IIT हो, IIM अथवा UPSC की परीक्षा ही क्यों न हो, यदि आप यह परीक्षा देना चाहते हैं तो आपको अवश्य प्रयास करना चाहिए यदि मेहनत करेंगे तो सफलता ज़रूर मिल जाएगी।

हिमांशु यह भी कहते हैं कि बहुत से लोग आपको विपरीत सलाह देंगे और डिमोटिवेट भी करेंगे, वे कहेंगे कि तुम पढ़ाई में होशियार नहीं हो तो तुमसे यह परीक्षा पास नहीं होगी, परंतु ऐसे व्यक्तियों की बातों को अनसुना करके आपको पूरे परिश्रम और लगन के साथ तैयारी करके परीक्षा देनी चाहिए, तो आप अवश्य सफल होंगे। IAS हिमांशु कौशिक (IAS Himanshu Kaushik) की सफलता से सभी छात्रों को सीख मिलती है कि अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कोशिश अवश्य करनी चाहिए। उम्मीद का दामन थाम कर दृढ़ निश्चय व कड़ी मेहनत के साथ जो लोग अपनी मंज़िल के रास्ते पर चलते हैं, वे ज़रूर कामयाब होते हैं।

Source: Awesome Gyan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here