भई मान गए शादी हो तो लालू परिवार का, एक बार पढ़ तो लीजिए हुजूर तब कहियेगा…

राजनीति

पटना: राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव के घर शादी हो और देश भर के वीआईपी न पहुंचे ये कभी हो सकता है का. नहीं न..भले ही लालू प्रसाद अस्वस्थ रहें लेकिन मेहमानों के खातिरदारी में कोई कमी नहीं होने वाला. लालू के बड़े बेटे उनके प्रिय कन्हैया तेज प्रताप के सर सेहरा सजा. पूर्व मुख्यमंत्री दरोगा प्रसाद राय की पोती व पूर्व मंत्री चन्द्रिका राय की बेटी ऐश्वर्या   के साथ सात फेरे के बन्धनों बंध रहे दोनों को आशीर्वाद देने दिग्गज नेता पहुंचे.

लालू प्रसाद मेहमान नवाजी के लिए फेमस तो हैं ही इस बार भी देखने को मिल गया. सियासत के दाव पेंच में एक दुसरे को पानी पिलाने वाले एक समारोह में शिरकत करते देख बड़ा ही सुकून मिलता है. लगता है काश सभी ये दिग्गज नेता एक साथ होते बड़े ही आराम से देश की सत्ता को चलाते. काहे इ सब सोच रहे हैं जी ज्यादे सोचियेगा भी मत. काहे कि कुर्सिया किसको नहीं प्यारा है. कोई कुर्सी छोड़ना चाहता है का. नहीं न इ बात अलग है कि शादी समारोह में सबकुछ भूल गला मिल लेते हैं.

बिहार की सियासत में में तीन साल पहले एक बड़ा परिवर्त्तन हुआ था. याद है न..! कि भूल गए.. उ का है की लोग बड़ा जल्दी ही भूल जाते हैं. याद आया..बड़का भाई और छोटका भाई एक दुसरे के खिलाफ ताल ठोकते थे लेकिन परस्थितियों के मारे मिल बैठे बेचारे, बाहों में बाहें डाले घुमने लगे फिर बिहार सारे…बड़े भाई लालू प्रसाद यादव और छोटे भाई नीतीश कुमार के बीच ऐसा पक्का वाला याराना हुआ कि 2015 विधानसभा में बीजेपी गठबंधन को धूल चटा दी.

छोटे भाई ने अपनी कृपा दृष्टि छोटे भतीजे पर बनाई फिर क्या लगाया लम्बा वाला छलांग. बड़ा भतीजा भी सेटल. अब तो दाम्पत्य जीवन में भी सेटल हो गए सबके प्यारे माँ पिताजी के दुलारे तेजू. भले ही महागठबंधन टूट गया लेकिन तेज तेजस्वी ने लम्बी छलाग लगाई. भई थोड़ा क्रेडिट तो चचा जी को जाता है अपने छत्रछाया में रख कर सियासी गुर सिखाये जो हैं. बड़े भेजे की शादी हो उसमें शामिल न हो ये भला हो सकता है क्या???

चाचा नीतीश पहुंचे जब भतीजे के शादी में बाराती बनने फिर क्या था बड़े भाई लालू ने सबकुछ भूला कर सियासी मतभेदों की जूती नीचे उतारते हुए मंच पर ही आगे बढ़कर स्वागत किया. छोटा भाई भी हाथ जोड़ खड़ा हो गया…मानों कह रहे हों बड़े भैया आज के दिन सबकुछ भूल जाइये..प्यारे कृष्ण कन्हैया भतीजवा..तेजू की शादी में आये हैं. हम भी आपके खुशियों में शारिक होने आये हैं…सियासत करना सिखा दिया अब जरा आशीर्वाद दे देते हैं…भतीजे तेज प्रताप यादव को आशीर्वाद देने सीएम नीतीश करीब पौने नौ बजे पहुंचे उनके साथ जदयू नेता श्याम रजक भी थे.

चाचा नीतीश ने भतीजे तेज प्रताप यादव और ऐश्वर्या को अपना आशीर्वाद दिया. सीएम ने वर-वधु को फूलों का गुलदस्ता भेंट करते हुए दोनों की सफल और सुखद गृहस्थ जीवन की कामना की. सीएम नीतीश जब डॉन को गुलदस्ता भेंट कर रहे थे उस समय स्टेज पर बड़े भाई लालू प्रसाद भी मौजूद थे. सारा माहौल खुशियों भरा. मानों दोनों एक दुसरे के सियासी विरोधी नहीं बल्कि दोस्त हों. काश ऐसा ही होता तो नजारा कुछ और ही होता.

सीएम नीतीश के अलावे स्टेज पर कई और दिग्गज नेता भी शुभकामना देने पहुंचे जिसमें सूबे के राज्यपाल सत्यपाल मलिक भी शामिल रहे. राज्यपाल ने पूर्व स्वास्थ्य मंत्री को तेज प्रताप को वैवाहिक जीवन के लिए बधाई देते हुए मंगल कामना की. लोजपा प्रमुख सह केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान भी भतीजे तेज प्रताप को आशीष देने पहुंचे.

सभी नेताओं ने लालू परिवार के साथ बैठकर तस्वीर भी खिंचवाई. बड़े भाई के साथ छोटे भाई साथ ही सियासत में चचा को पानी पिलाने वाले भतीजे तेजस्वी भी एक साथ नजर आये. बहु के आगमन से पहले ही राबड़ी देवी के परिवार पर ऊपर वाले की कृपा बरसनी शुरू हो गई. कहां लालू प्रसाद बमुश्किल से तीन दिन के पेरोल पर पटना आये थे अब तो 6 सप्ताह की प्रोविजल बेल भी मिल गई. सचमुच में बहु ऐश्वर्या तो राबड़ी देवी के लिए लक्ष्मीनिया साबित हो रही है. राबड़ी के चेहरे पर ख़ुशी साफ़ झलक रही थी सबका दुलारुया छोटा बीटा तेजस्वी भी माँ के बगल में मुस्कुराते नजर आये.

Leave a Reply

Your email address will not be published.