सन 1947 के समय भारत में कितनी महंगाई थी?

कही-सुनी

चलिए आज हम आपको हमारे देश के बारे में एक महत्वपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं जिसे शायद ही आपलोग जानते होंगे! क्या आपको पता है, जब हमारा देश अंग्रेजो से आजाद हुआ था तो उस वक्त कौन सा सामन और कौन-सी चीज़े कितनी महंगी थी?

Related image

हर घड़ी बदल रही है रूप जिंदगी, छाव है कभी- कभी है धुप ज़िन्दगी!

वैसे सच ही कहा है किसी ने, समय किसी का इंतज़ार नहीं करता! वो हर पल, हर घड़ी बदलता रहता है और वक्त के साथ उससे जुड़ी हर एक चीज भी बदलती रहती है। लेकिनएक यादें ही हैं जो हमेशा हमारे साथ रहती हैं और हमें अपने बीते हुए कल का एहसास दिलाती हैं। आज के समय से अगर देखा जाए तो, हमारे देश को आजाद हुए 70 साल हो गए हैं, और इन 70 सालों में हमारे देश की हालत और हालात काफी बदल चुका है। लेकिन आज हम आपके साथ अपने देश की पुरानी यादें शेयर कर रही हूँ। क्या आपने कभी इमेजिन किया है कि आज से 70 साल पहले यानी कि 1947 के अगस्त महीने में कैसा रहा होगा और कैसी कंडीशन रही होगी हमारे देश की और उस वक्त देश में बिक रहे सामानों का मूल्य क्या था?

Image result for aazadi of india

आज हमारे देश की महंगाई ने हर चीज में अपनी हदें पार कर दी हैं। मैं मानती हूँ कि हमारे लाइफस्टाइल और सैलरी में भी काफी परिवर्तन आया है, लेकिन अगर देखा जाए तोआजादी के बाद हमारे देश में इतनी भी महंगाई न थी कि एक आम आदमी आसानी से अपना जीवन का भरण-पोषण भी न कर पाए। उस वक़्त किसी भी चीज़ को खरीदने के लिए सिर्फ रुपये, पैसे, या आने से ही काम चल जाता था। 1 रुपये के सिक्के की कीमत के लिए तो नकद चांदी में हुआ करता था और रुपये की कीमत 16 आने यानी 64 पैसेकी थी और उस वक़्त 1 डॉलर की कीमत 1 रुपये के जितनी ही थी और उस समय में रुपया इतना शक्तिशाली था कि रोजाना की खरीदारी चिल्लर में ही हो जाया करती थी।

उस वक़्त में वस्तुओं की कीमत –

Related image

  1. उस समय में चावल 65 पैसे/किलो के दाम पर और गेहूं 26 पैसे में ही मिल जाया करते थे।
  2. चीनी उस टाइम पे 57 पैसे/किलो थी।
  3. पेट्रोल का दाम उस समय इंटरनेशनल मार्केट में लगभग 40 पैनी की थी।
  4. गोलगप्पे ओर आलूचाट का एक प्लेट का 1 आना लिया जाता था पहले के जमाने में।
  5. उस दौर में मुम्बई में विक्टोरिया नाम की टुक-टुक घुड़सवारी में आने जाने के लिए 1.5 किमी का 1 आना ही लिया जाता था ।

Image result for mehngai of india6. उस समय अहमदाबाद से मुम्बई तक की हवाईयात्रा सिर्फ 18 रुपये में की जाती थी ।

7. उस समय में तेनाली-रामा जैसी बुक 1.5 रुपये में आती थी ।

8. उस जमाने मे फ़िल्म की टिकट 40 पैसे से लेकर 8 आने तक में मिल जाती थी ।

Related image

आज के दौर में सन 1947 की यह कीमत भले ही चिल्लर के सामान लगते हों लेकिन ये भी है कि तब भारत के लोगो की प्रति व्यक्ति आय 150 रुपये से ज्यादा नहीं थी और महंगाई तो बिलकुल थी ही नहीं। उस वक़्त इतनी कम तनख्वाह में भी आसानी से जीवन का भरण-पोषण आसानी से हो जाता था ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *