गिलोय की बेल औषधीय गुणों से भरपूर होती है. इसके पत्ते पान के पत्तों के आकार के होते हैं. कई बीमारियों में औषधि के रूप में इसका इस्तेमाल किया जाता है. गिलोय के पत्तों में कैल्शि‍यम, प्रोटीन, फॉस्फोरस और स्टार्च भी पाया जाता है जोकि बॉडी के लिए काफी आवश्यक है. अगर आप सेहतमंद हैं और गिलोय का सेवन नियमित रूप से करते हैं तो आपकी बॉडी काफी हेल्दी रहती है. डेंगू जैसी जानलेवा बीमारी में भी गिलोय का जूस काफी फायदेमंद है. गिलोय के सेवन से प्लेटलेट काउंट बढ़ता है. आइए जानते हैं इसके फायदे…


प्लेटलेट काउंट में होगा इजाफा:
डेंगू के मरीज की मौत प्लेटलेट काउंट गिरने की वजह से होती है. डेंगू का मरीज टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अगर तुरंत ही गिलोय का सेवन शुरू कर दें तो उसका प्लेटलेट काउंट मेंटेन हो सकता है. गिलोय के औषधीय गुण प्लेटलेट काउंट बढ़ाते हैं. ऐसे में डेंगू में गिलोय का इस्तेमाल जीवन रक्षक की तरह हो सकता है.

इम्युनिटी करता है मजबूत:

गिलोय में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लामेट्री गुण पाए जाते हैं. ऐसे में अगर बॉडी में कहीं सूजन आ गई है तो उसे गिलोय का जूस पीना चाहिए या सूजन वाली जगह पर गिलोय के पत्ते भी पीसकर लगाए जा सकते हैं. इससे सूजन में राहत मिलेगी. गिलोय के सेवन से बॉडी की इम्युनिटी स्ट्रांग होती है.


डायबीटीज में है फायदेमंद:
घरेलू उपचार के तौर पर कई डायबीटीज के मरीज गिलोय का जूस पीते हैं. दरअसल, गिलोय खून में बढ़ते हुए शुगर लेवल को मेन्टेन करना का काम करता है. इससे डायबीटीज में भी काफी फायदा मिलता है. गिलोय का जूस पाचन तंत्र के लिए भी काफी अच्छा होता है. जिस लोगों को अपच की समस्या होती है वो गिलोय का जूस पीना पसंद करते हैं.स्किन करती है ग्लो:
गिलोय स्किन के लिए भी काफी अच्छा माना जाता है. जिस लोगों को स्किन से जुड़ी समस्या होती है उन्हें भी गिलोय के जूस का सेवन करना चाहिए. इसके इस्तेमाल से त्वचा एकदम मुलायम रहती है. गिलोय पेट साफ़ करता है ऐसे में बॉडी का इनर सिस्टम अच्छी तरह से काम करता है. यही वजह है कि स्किन भी ग्लो करती है.

Sources:-News18

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here