हिमाचल में बारिश का कहर, कई इलाकों में बादल फटने से तबाही

राष्ट्रीय खबरें

बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से मानसून कमजोर पड़ा था। अब मानसून के दोबारा सक्रिय होने से सोमवार को प्रदेश के कई इलाकों में मूसलाधार बारिश हुई। हिमाचल प्रदेश में सोमवार को ऑरेंज अलर्ट के बीच मूसलाधार बारिश ने भारी तबाही मचाई। राजधानी शिमला सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों में रविवार रात से भारी बारिश का दौर जारी है।

हिमाचल प्रदेश में आसमान से आफत टूटी है. राज्य के कई इलाकों में बादल फटने की वजह से तबाही आ गई है. धर्मशाला में कई गाड़िया बह गईं, घर और दुकान भी गिर गए. शिमला के पास सड़क बहने से रास्ते बंद हो गए. राज्य में 16 जुलाई तक इसी तरह से मानसून की बारिश होगी. इस बीच पीएम मोदी ने कहा कि राज्य को हर संभव मदद दी जा रही है. हिमाचल प्रदेश की स्थिति पर नजर रखी जा रही है.

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला से मिली जानकारी के मुताबिक सुबह नौ बजे तक पालमपुर में 160 मिमी और धर्मशाला में 130 मिमी बारिश हुई है। मनाली 55 मिमी, कांगड़ा 65 मिमी, भुंतर 51 मिमी, डलहौजी 48 मिमी और कुफरी में 38 मिमी बारिश हुई है। मैकलोडगंज के भागसूनाग में सड़क पर खड़ी कई गाड़ियां नाले में उफान आने पर बह गईं। कई गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गईं। डीसी कांगड़ा निपुण जिंदल से प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि बारिश से हुए नुकसान का आकलन करें और प्रभावित परिवारों को हर संभव सहायता प्रदान की जाए। प्रदेश के नदी और नाले उफान पर हैं। सैकड़ों सड़कें बंद हो गई हैं। नेशनल हाईवे 707 कफोटा के पास भूस्खलन से बंद हो गया है जिससे सैकड़ों वाहन फंस गए हैं।

पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा, “हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश के कारण स्थिति पर नजर रखी जा रही है. अधिकारी राज्य सरकार के साथ मिलकर काम कर रहे हैं. हर संभव सहयोग दिया जा रहा है. मैं प्रभावित क्षेत्रों में लोगों की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करता हूं.”

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने राज्य के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से बात की. अमित शाह ने ट्वीट करते हुए कहा, “हिमाचल प्रदेश में तेज बारिश से आयी प्राकृतिक आपदा के संबंध में मैंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से बात की है. राहत कार्यों के लिए एनडीआरएफ की टीमें शीघ्र वहां पहुंच रही हैं. गृह मंत्रालय स्थिति को निरंतर मॉनिटर कर रहा है. केंद्र की ओर से हिमाचल को हर संभव मदद दी जाएगी.”

अमित शाह के ट्वीट पर मुख्यमंत्री ने कहा, “प्रदेश में प्राकृतिक आपदा से निपटने एवं राहत कार्यों के लिए एनडीआरएफ की टीमें भेजने हेतु केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का प्रदेशवासियों की ओर से हार्दिक आभार. हमारी सरकार भी इस स्थिति से निपटने हेतु हरसंभव कार्य कर रही है.”

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा, “प्रदेश के जिला कांगड़ा सहित विभिन्न क्षेत्रों में भारी बरसात के कारण काफी नुकसान हुआ है, जिसकी हमने रिपोर्ट मंगवाई है. हमने सभी जिलों के उपायुक्तों को राहत कार्यों एवं प्रभावितों को हरसंभव सहायता प्रदान करने के निर्देश दे दिए हैं.” सीएम ने आगे कहा, “प्रदेशवासियों एवं पर्यटकों से विनम्र आग्रह है कि खराब मौसम के दृष्टिगत सावधानियां बरतें. नदी-नालों एवं भूस्खलन संभावित स्थानों के करीब न जाएं.”

Leave a Reply

Your email address will not be published.