पर्यावरण की स्थिति के मद्देनजर प्रदूषण की अत्यधिक वृद्धि होना तथा अन्य कारणों से स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। लोगों को सामान्य जीवन जीने में भी कठिनाई हो रही है। ऐसी स्थिति में अगर शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाए तो आप कई रोगों से बच सकते हैं।

हृदय के लिए लाभप्रद

आंवले का सेवन करने से रक्त में बैड कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ नहीं पाता, जिससे हृदय को किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंच पाता। इसमें उपस्थित अमीनो एसिड और एंटीऑक्सीडेंट्स की वजह से हृदय गति सुचारु रूप से संचालित होती है। ब्लड प्रेशर संबंधित समस्याओं के लिए आंवला अच्छा विकल्प है।

त्वचा के लिए गुणकारी

त्वचा के प्राकृतिक सौंदर्य को बनाए रखने के लिए आंवला रामबाण है। आंवला खाने वालों की त्वचा बहुत दमकती रहती है। इसमें एंटी-फंगल गुण भी उपस्थित होते हैं, जो लोग आंवला समय-समय पर खाते हैं, उन्हें त्वचा से जुड़े फंगल व बैक्टीरियल इंफेक्शन की समस्या नहीं होती है। ऐसे लोगों की त्वचा ऐसे इंफेक्शन से लड़ने के लिए हमेशा तैयार रहती है।

पर्याप्त एंटीऑक्सीडेंट्स

आंवले में एंटीऑक्सीडेंट्स पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं। एंटीऑक्सीडेंट्स रक्त के शुद्धिकरण में सहायक है और शरीर से नुकसानदेह पदार्थों को बाहर निकालते हैं।

हड्डियों के लिए लाभप्रद

ऑस्टियोअर्थराइटिस और जोड़ों में दर्द आज के परिवेश में आम समस्याएं हैं। आंवले में उपस्थित तत्व हड्डियों के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। इसमें पर्याप्त मात्रा में मात्रा में कैल्शियम होता है, जो हड्डियों को कमजोर होने ही नहीं देता है। आंवला कैल्शियम के अवशोषण में भी मदद करता है।

वजन नियंत्रण में सहायक

आयुर्वेद के अनुसार अगर आपका वजन ज्यादा है तो नियमित रूप से आंवले का सेवन शुरू कर दें। आंवला शरीर से सारे टॉक्सिन को निष्कासित कर देता है। इस वजह से पाचन क्रिया सुचारु रहती है खनिज हों या लवण या फिर दूसरे विटामिन, आंवला सबको अच्छी तरह से अवशोषित भी कर लेता है, जिससे वजन कम होता है। बड़े-बुजुर्ग अकसर काले बालों के लिए आंवला खाने का परामर्श देते हैं। आंवला बालों का भी ध्यान रखता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स, आयरन और विटामिनसी भरपूर मात्रा में होता है, जो बालों को गिरने से रोकता है।

नेत्र ज्योति

बच्चों की कम उम्र में ही लैपटॉप और मोबाइल के अत्यधिक इस्तेमाल के कारण आंखों की रोशनी प्रभावित हो जाती है। आंवला आंखों की रोशनी बढ़ाने में काफी मददगार होता है। साथ ही आंखों की दूसरी दिक्कतें जैसे जलन और खुजली में भी राहत मिलती है। दरअसल, इसमें मौजूद विटामिन-सी, एंटीऑक्सीडेंट्स और ओमेगा 3 फैटीएसिड, आंखों की देखने की क्षमता को बढ़ाता है।

Sources:-Dainik Jagran

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here