हैसियत हो तो अजान रोककर दिखाएं, बिहार में लाउडस्पीकर पर आमने-सामने हुए एनडीए के घटक दल

जानकारी

बिहार में अजान पर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के दो घटक दल आमने-सामने हो गए हैं। बुधवार को खान एवं भूतत्व मंत्री जनक राम ने कहा था कि सुबह अजान के लिए बजने वाले लाउडस्पीकर पर रोक लगनी चाहिए। इससे बाधाएं उत्पन्न होती हैं। भाजपा के मंत्री के बयान पर पूर्व सीएम जीतनराम मांझी के हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। हम प्रवक्ता दानिश रिजवान ने गुरुवार को पलटवार करते हुए कहा कि कुछ लोग असदुद्दीन ओवैसी बनना चाह रहे हैं। अगर हैसियत हो तो मस्जिदों से आने वाली अजान की आवाज को रोककर दिखाएं।

मुजफ्फरपुर में खान एवं भूतत्व मंत्री जनक राम ने कहा था कि होली, दीवाली, छठ और हिंदुओं के पर्वों में ऊंची आवाज में लाउडस्पीकर बजाने पर रोक लगा दी जाती है। उन्होंने कहा कि गाड़ी चलाने तक पर भी प्रतिबंध लगा दिया जाता है। उन्होंने सवाल किया कि मस्जिदों पर कोई रोक क्यों नहीं है? जनक राम ने कहा कि मस्जिदों के आसपास अन्य समुदाय के परिवार भी रहते हैं। इसमें भारी संख्या में छात्र-छात्राएं भी हैं। लाउडस्पीकर से आने वाली आवाज से सभी धर्मों के लोग परेशान होते हैं। उन्होंने कहा कि मस्जिद से लाउडस्पीकर बजाने पर रोक होनी चाहिए। जनक राम ने यह भी साफ किया कि यह जनता की मांग है।

पीएम का सपना तोड़ना चाहते हैं कुछ लोग

जनक राम के बयान पर हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा कि कुछ लोग असुदुद्दीन ओवैसी बनने चाहते हैं। हम प्रवक्ता ने कहा कि इस मुल्क में न अजान की आवाज रुकेगी न मंदिरों के घंटे बंद होंगे। उन्होंने कहा कि यह मुल्क सांप्रदायिक एकता का है। उन्होंने कहा कि पीएम नरेन्द्र मोदी कहते हैं कि सबको लेकर चलेंगे। सबका साथ सबका विकास करेंगे। कुछ लोग प्रधानमंत्री का सपना तोड़ना चाहते हैं, उन्हें पता नहीं है कि वह खुद टूट जाएंगे। हम प्रवक्ता ने कहा कि ऐसे बयान देकर सुर्खियों ने रहने वाले नेताओं को हम बता देना चाहते हैं कि इस मुल्क में अजान की आवाज भी आएगी और मंदिर की घंटे भी बजेंगे। किसी की हैसियत नहीं है कि वह अजान की आवाज रोक सके या मंदिर के घंटे बजने पर रोक लगा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.