चोरी की वारदातों से बचने के लिए सरकार ने बदले ATM में कैश डालने के नियम

कही-सुनी

देशभर में चोरों व बदमाशों के द्वारा एटीएम में पैसे भरते समय लुट की वारदातें अकसर सामने आती है। ऐसे में एटीएम से जुड़ी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सरकार ने इसके नियमों में कुछ अहम बदलाव किए है।

सरकार के नए नियमों के तहत एटीएम की एक कैश वैन में सिंगल ट्रिप में 5 करोड़ रुपये से अधिक नहीं रखे जाएंगे और कैश वैन की सुरक्षा के लिए तैनात किए कर्मचारियों को लुट के हमले और हर प्रकार के खतरों से निपटने के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी और कैश ट्रांसपोर्टेशन से जुड़े सभी कर्मचारियों का आधार वेरिफिकेशन भी कराया जाएगा।

इसके अलावा देश के शहरी इलाकों में रात को 9 बजे के बाद और ग्रामीण क्षेत्रों में शाम 6 बजे के बाद किसी भी एटीएम में कैश नहीं भरा जाएगा। इसके अलावा सभी कैश वैन में जीएसएम बेस्ड ऑटो-डायलर के साथ सिक्योरिटी अलार्म और मोटराइज्ड सायरन, सीसीटीवी, लाइव जीपीएस ट्रैकिंग आदि सभी लगाए जाएंगे। सरकार के नए नियम के तहत सभी कैश वैन में कम से कम दो सिक्योरिटी गार्ड बंदूकों के साथ जरूरी होंगे औऱ इन सिक्योरिटी गार्ड की बंदूकों से दो वर्ष में कम से कम एक बार टेस्ट फायरिंग की जाएगी और इनकी बुलेट प्रत्येक दो वर्षों में बदली जाएंगी।

नए नियमों में उन कैश वॉल्ट को भी शामिल किया गया है जिनका इस्तेमाल कंपनियां कैश को एटीएम में ले जाने से पहले रखने और गिनती करने के लिए करती हैं. इन वॉल्ट की सीसीटीवी के जरिए निगरानी की जाएगी और इन्हें सुरक्षित स्थानों पर रखा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.