राज्यपाल, मुख्यमंत्री नीतीश और लालू ने दी भैयादूज, चित्रगुप्त व गोवर्धन पूजा की बधाई-शुभकामना

खबरें बिहार की

पटना: बिहार के राज्यपाल महामहिम सत्यपाल मलिक और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहारवासियों को चित्रगुप्त पूजा और भैयादूज के साथ गोवर्धन पूजा की बधाई और शुभकामना दी है. राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि विद्या आराधना और समग्र उन्नति के लिए होनेवाली चित्रगुप्त पूजा एवं भाई बहनों के पवित्र रिश्ते से जुड़े भैयादूज के त्योहारों के मौके पर मैं बिहार वासियों के सुखी, संपन्न, उपलब्धिपूर्ण और उल्लासमय जीवन की मंगलकामना करता हूं. वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने शुभकामना और बधाई संदेश में कहा है कि ज्ञान के अधिष्ठाता देवता चित्रगुप्त भगवान की पूजा एवं आराधना से  लोगों में पढ़ने-लिखने की अभिरुची बढ़ती है. उन्होंने सभी को शुभकामना देते हुए कहा है कि लोगों में पढ़ने-लिखने के प्रति बढ़ती अभिरुचि के फलस्वरूप बिहार में ज्ञान और शिक्षा का प्रकाश घर-घर फैलेगा. आज ज्ञान का युग है. सभी के  प्रयास से बिहार सुखी, समुन्नत और समृद्ध बनेगा.

नीतीश कुमार ने सूबे के लोगों को कहा है कि वह चित्रगुप्त पूजा और भैयादूज को पारस्परिक सौहार्द, सद्भाव और उल्लास के साथ मनाएं. वहीं दूसरी ओर राजद सुप्रीमो लालू यादव ने गोवर्धन पूजा के अवसर पर  राज्य एवं देशवासियों विशेष कर पशुपालक भाई-बहनों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी है. संदेश में कहा है कि पशुपालन प्रगति और आर्थिक समृद्धि का आधार है.पशुपालन को प्रोत्साहित कर घर परिवार एवं राज्य में खुशहाली लायी जा सकती है. आवास पर ही  भगवान श्रीकृष्ण को नमन किया एवं गो पूजा की.

पूरे सूबे में उल्लास के साथ गोवर्धन और भैयादूज का पर्व मनाया जा रहा है. जगह-जगह बहनें गोधन कूटने की रस्म को पूरा करते हुए अपने भाइयों के लंबी उम्र की कामना कर रही हैं. ऐसी मान्यता है कि गोधन कूटने वाली बहनों के भाइयों की उम्र लंबी हो जाती है. इस पर्व के दिन बहनें भाइयों के माथे पर तिलक लगाती हैं और भगवान से भाइयों की लंबी आयु की कामना करती हैं.  दूसरी तरफ भगवान चित्रगुप्त की पूजा भी सूबे में धूमधाम से की जा रही है. कायस्थ समाज के लोग काफी श्रद्धा के साथ अपने घरों के अलावा मंदिरों में भी कलम और दवात की पूजा करते है. चित्रगुप्त समाज की ओर से पटना के खगौल रोड अनिसाबाद में चित्रगुप्त पूजा होगी. शहर के अन्य मंदिरों में भी कायस्थ समाज के लोग भगवान चित्रगुप्त की विशेष पूजा-अर्चना कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *