भारत सरकार ने शुरू किया एयरलिफ्ट 150 यात्रियों को लेकर आ रहा सेना का विमान C-17

अंतर्राष्‍ट्रीय खबरें

Patna: तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान में हाहाकार की स्थिति है। विदेशियों को वहां से निकाले जाने का सिलसिला जारी है। भारी संख्या में अफगानी नागरिक भी अपना मुल्क छोड़ने के लिए कुछ भी करने को राजी है। यही कारण है कि भारी संख्या में महिलाओं और बच्चों समेत लोग काबुल एयरपोर्ट पर जमे हैं। एक दिन पहले यहां हुए हादसों में 10 लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच, तालिबान ने सरकार गठन की कवायद शुरू कर दी है। इसी सिलसिले में इसके कुछ नेता दोहा जा रहे हैं जहां सरकार गठन पर मंथन होगा।

तालिबान पिछली सरकार को अपने साथ लेने के लिए कुछ हद तक तैयार हुआ है, लेकिन सरकार पर अपनी पूरा कंट्रोल चाहता है। वहीं रूस और चीन ने संकेत दिए हैं कि वे अफगानिस्तान में तालिबान की नई सरकार को समर्थन दे सकते हैं। यही कारण है कि रूस ने अपने राजदूतों को अब तक वापस नहीं बुलाया है। यानी इस मामले में अमेरिका अलग-थलग पड़ता दिख रहा है। कुल मिलाकर आने वाले दिन अहम रहेंगे।

150 नागरिकों को लेकर जमानगर पहुंचा विमान: सेना का विशेष सी17 विमान काबुल से 150 भारतीयों को लेकर जामनगर पहुंच गाय है। विमान करीब 11.25 बजे जामनगर लैंड हुआ। इसमे अधिकांश दूतावास के कर्मचारी हैं।

अलग-अलग जगह फंसे भारतीय, पीएम मोदी से अपील: ताजा खबर यह है कि काबुल में अलग-अलग स्थानों पर भारतीय फंस गए हैं। एक कंपनी के कुछ कर्मचारी काबुल एयरपोर्ट के पास होटल में फंसे हैं। इनकी 16 अगस्त की फ्लाइट थी जो कैंसिल हो गई। इनके अलावा अन्य जगहों पर फंसे लोगोंं में नेपाली नागरिक भी शामिल हैं। सभी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है।

पहले जामनगर, फिर गाजियाबाद में उतरेगा विमान: भारतीयों को लेकर आ रहा सेना का सी17 विमान सबसे पहले गुजरात के जामनगर पहुंचेगा। इसके बाद गाजियाबाद में यात्रियों को उतारेगा। इस विमान में अफगानिस्तान में भारत के राजदूत रूद्रेंदू टंडन भी शामिल हैं। इनके अलावा कुछ पत्रकार और आम भारतीय भी लौट रहे हैं। चूंकि भारत में अपना दूतावास बंद करने का फैसला कर लिया है तो कुछ जरूरी दस्तावेज भी इस विमान में आ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *