गैस और एसिडिटी से रहते हैं परेशान तो ऐसे बनाकर खाएं पुदीने का रायता, रोजाना खाने से सेहत को मिलते हैं ये फायदे

जानकारी

 आयुर्वेद में पुदीने का उपयोग कई रोगों से मुक्ति पाने के लिए किया जाता रहा है। यह जादुई हरे रंग की पत्तियां आपकी सेहत और खूबसूरती का ही नहीं बल्कि आपके स्वाद का भी ख्याल रखती हैं। पुदीना की पत्तियां एंटीमाइक्रोबियल, एंटीवायरस, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-एलर्जिक गुणों से भरपूर होती हैं। जो सेहत को कई तरह से फायदा पहुंचाने में मदद करती है। ऐसा ही एक फायदा है गैस और एसिडिटी से छुटकारा दिलाना।

जी हां, पुदीना की पत्तियों से बना रायता खाने से आपको गैस और एसिडिटी की समस्या से जल्द राहत मिल सकती है। तो देर किस बात की आइए जान लेते हैं कैसे बनाया जाता है पुदीने का रायता और इसका सेवन करने से व्यक्ति को मिलते हैं क्या-क्या फायदे।

इस तरह बनाएं पुदीने का रायता-
पुदीने का रायता बनाने के लिए सामग्री-
-4 कटोरी पुदीने की पत्तियां
-1 खीरा कसा हुआ
-2 कटोरी दही
-हरी मिर्च
-छोटा प्याज बारीक कटा हुआ
-टमाटर बारीक कटा हुआ
-हरी धनिया
-अनार के दाने
-चार्ट मसाला


-काला नमक
-जीरा पाउडर
-चीनी
-नमक

पुदीने का रायता बनाने का तरीका-
पुदीने का रायता बनाने के लिए सबसे पहले 4 कटोरी पुदीने की पत्तियों के साथ हरे धनिया की पत्तियों को भी धोकर अलग रख लें।अब इन पुदीने और धनिया की पत्तियों को मिक्सर में पीस लें। एक बड़ी कटोरी लें और उसमें दो कटोरी दही के साथ बारीक कटी हुए हरी मिर्च, प्याज और टमाटर डाल लें। अब इसमें कद्दूकस किए हुए खीरे को भी डाल लें। अब जीरा पाउडर, चाट मसाला, काला नमक, नमक और चीनी अपने स्वादानुसार डालकर सभी चीजों को अच्छे से मिला लें। अवश्यकता अनुसार आप इसमें थोड़ा पानी भी मिला सकते हैं। इसके बाद इसमें बारीक कटी हुई हरी धनिया और अनार के दाने डालें। अब इस रायते को ठंडा होने के लिए थोड़ी देर फ्रिज में रख दें। आपका टेस्टी पुदीने का रायता बनकर तैयार है।

पुदीने का रायता खाने के फायदे-
पेट की गर्मी करता है शांत-

पुदीना मेन्थॉल से भरपूर होता है जो पेट को ठंडा रखने के लिए जाना जाता है। ये पित्त की परेशानी को कम करता है और पाचन तंत्र से जुड़े हर अंग को शांत करता है। इस रायते में कुछ ऐसे एंटीऑक्सीडेंट और फाइटोन्यूरिएंट्स भी मौजूद होते हैं जो डाइजेस्टिव एंजाइम फूड की तरह काम करते हुए इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (IBS) के लक्षणों से भी बचाव करते हैं।

एसिडिटी से दिलाए निजात-
अगर आपको भी खाना खाने के बाद एसिडिटी की समस्या रहती है तो अपनी डाइट में पुदीने का रायता जरूर शामिल करें। इसे डाइट में शामिल करने से पाचन तंत्र अच्छी तरह काम करता है और व्यक्ति को गैस और बदहजमी की समस्या परेशान नहीं करती है।

भोजन पचाने में करता है मदद-
पुदीना में मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी और मेंथॉल जैसे गुण ज्यादा तेल मसाले वाले खाने को भी पचाने में मदद करते हैं। साथ ही ये सीने में जलन पैदा करने वाले मसालों के असर को भी हल्का कर देता है। ये पेट की मांसपेशियों को आराम पहुंचाने के साथ मेटाबोलिज्म को तेज करता है, जिससे खाना तेजी से पच जाता है।

वेट लॉस-
पुदीने का रायत न सिर्फ स्वाद में अच्छा है बल्कि ये आपकी वेट लॉस जर्नी में भी आपकी मदद कर सकता है। इसका सेवन करने से मेटाबोलिज्म तेज होता है, जिससे अनहेल्दी फूड्स टिशूज से चिपक कर मोटापा बढ़ाने का कारण नहीं बनते। साथ ही ये ज्यादा तेल-मसाला खाने के नुकसान को भी कम करता है, जिससे वजन कंट्रोल करने में मदद मिलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.