538 दिन बाद पटना के गांधी घाट पर गंगा आरती, कोरोना प्रोटाकॉल में किया जाएगा पूजन

खबरें बिहार की

Patna:कोरोना को देखते हुए कुछ बंदिशों के साथ पटना के गांधी घाट पर अब हर शनिवार और रविवार को गंगा आरती होगी। पर्यटन विभाग के अनुरोध पर जिला प्रशासन ने गुरुवार को इसकी अनुमति प्रदान कर दी। घाट की क्षमता से आधे दर्शकों को गंगा आरती देखने के लिए प्रवेश दिया जाएगा। बिना मास्क के एंट्री नहीं मिलेगी। साथ ही एंट्री गेट पर सैनेटाइजर और थर्मल स्कैनर की व्यवस्था की जाएगी।

कोरोना प्रोटोकॉल में होगी गंगा आरती
राज्य पर्यटन विकास निगम को जिला प्रशासन ने गंगा आरती के लिए सशर्त अनुमति दी है। इसमें कोरोना के प्रोटोकाल का पूरी तरह से पालन करना है। प्रशासन की तरफ से दी गई अनुमित में बिना मास्क के प्रवेश पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। गेट पर ही थर्मल स्कैनर और सैनिटाइजेशन की पूरी व्यवस्था करनी होगी।

 

 

 

हाथ से स्पर्श होने वाले सभी लोहे और सीढ़ी के पार्ट्स को समय समय पर सैनिटाइज करना होगा। इसके साथ ही घाटों पर वालंटियर को भी तैनात किया जाना है, जो सोशल डिस्टेंस का पालन कराने के साथ ही लोगों के मास्क और सैनिटाइजेशन पर भी ध्यान देंगे। प्रशासन के प्रोटोकॉल से संबंधित नियम का पालन कराने को लेकर वालंटियरों की तैनाती की जा रही है।

इससे पहले 23 अगस्त को 17 महीने के बाद पटना के गांधी घाट पर गंगा आरती शुरु हुई थी। झमाझम बारिश के बीच बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम की ओर से यह आरती शुरू की गई थी। गौरतलब है कि कोरोना महामारी के मद्देनजर पर्यटन नि‍गम ने पर्यटकों की सुरक्षा की लिहाज से गंगा आरती को बंद कर दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.