देश का पहले वर्ल्‍ड क्‍लास सुविधाओं वाला स्टेशन बना गांधीनगर रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट जैसी सुविधा और फाइव स्टार होटल

राष्ट्रीय खबरें

भारत का पहला पुनर्विकसित रेलवे स्टेशन गुजरात की राजधानी में तैयार है। शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका वर्चुअली उद्घाटन करेंगे। गांधीनगर कैपिटल स्टेशन कई विश्व स्तरीय अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है। रेलवे ने कहा कि प्लेटफार्म दो सबवे के जरिये जुड़े हुए हैं उनमें बैठने की पर्याप्त व्यवस्था है। उनमें एस्केलेटर और लिफ्ट की सुविधा भी मौजूद है। स्टेशन पर दिव्यांग यात्रियों को ध्‍यान में रखते हुए विशेष टिकट बुकिंग काउंटर, रैंप, लिफ्ट, पार्किंग स्थल बनाए गए हैं। स्टेशन पर एक आर्ट गैलरी भी है।

पुनर्विकसित स्टेशन को व्यस्त घंटों में 1,500 यात्रियों को संभालने के लिए बनाया गया है। भीड़ के साथ यह क्षमता 2,200 तक बढ़ जाएगी. रेलवे ने कहा कि निकट भविष्य में यात्रियों के साथ-साथ स्थानीय आबादी के लिए क्षेत्र में खुदरा, खाद्य और मनोरंजन केंद्र खोलने की योजना है। बिग बाजार और शॉपर्स स्टॉप ने स्टेशन पर अपने केंद्र खोलने की इच्‍छा जताई है।

स्टेशन के ऊपर एक 5 स्टार होटल लग्जरी होटल भी है। इस होटल में 318 कमरे हैं, जो 7,400 वर्ग मीटर में फैला है। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह वर्चुअल कार्यक्रम के जरिये इसका उद्घाटन करेंगे। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी गांधीनगर में होने वाले कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं।

गांधीनगर रेलवे एंड अर्बन डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड ने 71.50 करोड़ रुपये की लागत से इसे पुनर्विकसित किया है। यात्रियों की सुविधाओं को ध्‍यान में रखते हुए इस स्टेशन को हवाई अड्डे की तरह विकसित किया गया है। रेलवे स्टेशन पर शानदार अनुभव के लिए सभी बेहतरीन सुविधाओं को शामिल करने की कोशिश की है। स्टेशनों के पुनर्विकास की परियोजना में हम रेलवे के लिए राजस्व के नए स्रोतों के साथ-साथ अपने यात्रियों के लिए नए अनुभव लाने की दिशा में प्रयास कर रहे हैं। यह वास्तव में नए भारत का नया रेलवे स्टेशन है।

गांधीनगर कैपिटल स्टेशन पर पुनर्विकास कार्य 2017 में गांधीनगर रेलवे और शहरी विकास (GARUD) नाम के संयुक्त उद्यम के गठन के साथ शुरू हुआ था। इसके स्‍ट्रक्‍चर को ग्रीन बिल्डिंग अप्रेजल सिस्‍टम (GBAS) के साथ डिजाइन किया गया है। पहले से ही इसे भारतीय वाणिज्य व उद्योग संगठन (ASSOCHAM) से सस्‍टेनेबिलिटी स्‍टैंडर्ड ग्रीन सर्टिफिकेशन (SSGC) मिल चुका है।

प्रबंध निदेशक और भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम के सीईओ, एसके लोहिया ने बताया कि गुजरात की राजधानी, गांधीनगर में देश का पहला पुनर्विकसित रेलवे स्टेशन है। पुनर्विकसित रेलवे स्टेशन में विश्व स्तरीय सुविधाएं हैं और इसके ऊपर, एक 5 स्टार होटल को लाइव रेलवे ट्रैक पर बनाया गया है।

यह देश में पहली बार है कि इस तरह का होटल लाइव रेलवे ट्रैक पर बनाया गया है। गुजरात सरकार और आईआरएसडीसीएल, पश्चिम रेलवे की संयुक्त उद्यम कंपनी गांधीनगर रेलवे ऐंड अर्बन डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड ने 71.50 करोड़ रुपये की लागत से रेलवे स्टेशन का पुनर्विकास कार्य किया है।

गांधीनगर रेलवे स्टेशन को आधुनिक एयरपोर्ट के जैसी विश्व स्तरीय सुविधाओं के साथ विकसित किया गया है। लोहिया ने बताया, ‘एक इंटरफेथ प्रार्थना हॉल है, शायद किसी भी रेलवे स्टेशन में ऐसी पहली जगह है। इसके अलावा एलईडी वॉल डिस्प्ले लाउंज के साथ एक आर्ट गैलरी, एक बेबी फीडिंग रूम, एक सेंट्रलाइज्ड एसी वेटिंग हॉल, विशाल टिकट सुविधा के साथ डबल ऊंचाई प्रवेश लॉबी है। स्टेशन दिव्यांगों के लिए भी अनुकूल है।’

इस स्टेशन की सबसे अनूठी विशेषता 105 मीटर स्पैन (कर्व्ड आर्क) और 90 मीटर क्षैतिज का कॉलम-मुक्त और किफायती स्पेस फ्रेम है, जो भारतीय रेलवे के किसी भी स्टेशन पर सबसे लंबा है। वर्तमान में यहां तीन प्लेटफॉर्म हैं और आगे दो बढ़ाए जाएंगे।

स्टेशन में एक सेंट्रलाइज्ड एसी मल्टीपरपज वेटिंग रूम है जिसमें 40 लोगों के बैठने की क्षमता है। लोहिया ने कहा, ‘इस जगह को प्रदर्शनियों, सामाजिक कार्यक्रमों जैसे कार्यक्रमों की मेजबानी के लिए किराए पर भी लिया जा सकता है, जब ट्रेन की आवाजाही नहीं होती है। इससे रेलवे को कुछ पैसा भी मिल सकता है।’

पीएम मोदी शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य में कई रेलवे बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का उद्घाटन करने के अलावा, स्टेशन से दो नई ट्रेनों को भी हरी झंडी दिखाएंगे। एक गांधीनगर राजधानी और वाराणसी के बीच, और एक मेमू ट्रेन।

रेलवे अधिकारियों ने बताया कि पुनर्विकसित गांधीनगर कैपिटल रेलवे स्टेशन के अलावा, मोदी गेज कनवर्टेड कम विद्युतीकृत महेसाणा-वरेथा लाइन और नव विद्युतीकृत सुरेंद्रनगर-पिपावाव खंड का उद्घाटन करेंगे। इसके अलावा दो नई ट्रेनों को हरी झंडी दिखाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.