गांधी सेतु है एशिया का सबसे लंबा पुल

खबरें बिहार की

महात्मा गांधी सेतु पटना से हाजीपुर को जोड़ने को लिये गंगा नदी पर उत्तर-दक्षिण की दिशा में बना पुल है। ये एशिया का सबसे लम्बा, एक ही नदी पर बना सड़क पुल है जिसकी लम्बाई 5,575 मीटर है।

भारत की प्रधान मंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी ने इसका उद्घाटन मई 1982 में किया था। इसका निर्माण गैमोन इंडिया लिमिटेड ने किया था। वर्तमान में ये राष्ट्रीय राजमार्ग 19 का हिस्सा है।

हर दिन इस पर से होकर हजारों गाड़ियां गुजरती हैं। साढ़े 6 किमी लंबा महात्मा गांधी सेतु 1982 में बना था। तब इस पर महज 81 करोड़ की लागत आई थी। इस सेतु के माध्यम से बिहार में व्यापार को गति मिलती है।

ये सेतु उत्तर बिहार के हाजीपुर, सोनपुर, सिवान, छपरा, समस्तीपुर, दरभंगा, मोतिहारी, गोपालगंज समेत अन्य जिलों में रहने वाले लाखों लोगों के लिए राजधानी पहुंचने का विकल्प है।
ये देश में गंगा पर बने सेतुओं की श्रेणी में सबसे लंबा पुल है। इसकी कुल लंबाई 5.57 किलोमीटर और चौड़ाई 25 मीटर है। इसमे कुल 47 पाये हैं। ये प्रीस्ट्रेड कंक्रीट बैलेंस कैंटीलीवर तकनीक पर आधारित पुल है।
बताया जाता है कि इस तकनीक पर बना सिर्फ यही पुल अभी तक चालू है। अन्यथा इस तकनीक पर आधारित अन्य पुलों पर परिचालन बंद कर दिया गया है।
इस पुल से नीचे गंगा का नजारा बहुत ही खूबसूरत लगता है। कई फिल्मों की शूटिंग भी इस पुल पर हुई है।
वर्तमान में ये पुल खस्ताहाल हो चुका है। लेकिन, ये आज भी ये बिहार की लाइफ लाइन है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.