गांधी मैदान में 500 पुलिसकर्मी और 80 मजिस्ट्रेट तैनात, 22 से 24 मार्च तक चप्पे-चप्पे पर होगी सुरक्षा व्यवस्था

खबरें बिहार की जानकारी

गांधी मैदान में 22 से 24 मार्च के बीच होने वाले बिहार दिवस को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। गांधी मैदान में समारोह को देखते हुए 500 पुलिसकर्मी और 80 मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गई है। गांधी मैदान के चारों ओर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। रविवार को प्रमंडलीय आयुक्त कुमार रवि और डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। समारोह गांधी मैदान के अलावा श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में आयोजित किया जाएगा।

बिहार दिवस पर शिक्षा विभाग के अलावा 18 विभागों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी। इसमें विभिन्न प्रतियोगिताएं, प्रदर्शनी, फिल्म प्रदर्शन, सेमिनार एवं गोष्ठी, सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं अन्य कई प्रकार की गतिविधियां करने की योजना है। आयुक्त और डीएम ने मजिस्ट्रेट के साथ गांधी मैदान में बैठक की। दोनों अधिकारियों ने नूतन राजधानी अंचल पटना नगर निगम के कार्यपालक पदाधिकारी को उक्त अवसर पर साफ-सफाई, पेयजल एवं फॉगिंग की व्यवस्था गांधी मैदान एवं एसकेएम में सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

विधि व्यवस्था के वरीय प्रभार में अपर जिला दंडाधिकारी विधि व्यवस्था तथा पुलिस अधीक्षक मध्य रहेंगे। समारोह के शांतिपूर्ण आयोजन तथा विधि व्यवस्था संधारण के लिए जिला दंडाधिकारी पटना एवं वरीय पुलिस अधीक्षक पटना द्वारा संयुक्त आदेश जारी किया गया है तथा पर्याप्त संख्या में दंडाधिकारी पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल की तैनाती की गई है। सभी अधिकारियों को अपनी-अपनी ड्यूटी पर ससमय उपस्थित होने तथा निर्धारित दायित्व का पूरी जवाबदेही से निर्वहन करने का सख्त निर्देश दिया गया है।

चार गेट से गांधी मैदान में जा सकेंगे लोग 

गांधी मैदान में बिहार दिवस के अवसर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम और प्रदर्शनी को देखने के लिए प्रशासन की ओर से गेट नंबर पांच, छह, सात और आठ को आमलोगों के लिए खोल दिया गया है। इसमें सात नंबर गेट 22 मार्च को आमलोगों के लिए बंद रहेगा क्योंकि उस दिन शाम को ड्रोन का प्रदर्शन किया जाना है। लेकिन यह गेट 23 और 24 मार्च को खोल दिया जाएगा। चार नंबर गेट वीआईपी के प्रवेश के लिए सुरक्षित रखा गया है जबकि एक नंबर गेट से प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है।

गेट छह और सात के पास होगी पार्किंग

गेट नंबर छह और सात के पास वाहन पार्किंग की सुविधा रखी गई है। गांधी मैदान के चारों ओर वाहनों की पार्किंग पर प्रतिबंध है। समारोह में भाग लेने वाले लोग दो गेट से अंदर जाकर पार्किंग कर सकते हैं। दर्शकों के लिए प्रवेश नि:शुल्क है लेकिन दर्शक दीर्घा में बैठने वालों के लिए शिक्षा विभाग की ओर से पास निर्गत किया जाएगा। सांस्कृतिक कार्यक्रम मुख्य मंच से प्रत्येक दिन शाम को प्रसारित किया जाएगा।

नियंत्रण कक्ष और हेल्प डेस्क बनायी गयी

गांधी मैदान में निर्मित अस्थायी प्रशासनिक भवन परिसर में अस्थायी नियंत्रण कक्ष सह हेल्प डेस्क तथा अस्थायी थाना कार्य करेगा। जिला नियंत्रण कक्ष की दूरभाष संख्या 0612-2219810 और 2219234/2219209 है। किसी प्रकार की घटना होने पर जिला नियंत्रण कक्ष और हेल्प डेस्क से संपर्क किया जा सकता है। विभिन्न विभागों से समन्वय स्थापित कराने तथा कार्य संपादन कराने के लिए अपर जिला दंडाधिकारी आपदा को प्राधिकृत किया गया है।

छह बेड का अस्थायी अस्पताल भी

गांधी मैदान में पूरे कार्यक्रम के दौरान 6 बेड का एक अस्थायी चिकित्सालय 24 घंटे कार्य करेगा। इसमें चिकित्सा पदाधिकारी, पारा मेडिकल स्टाफ एवं जीवन रक्षक दवाओं की व्यवस्था रहेगी। गांधी मैदान और एसकेएम में 7 एंबुलेंस की व्यवस्था की गई है। यहां पर चौबीस घंटे डॉक्टर नर्स और दवा की भी उपलब्धतता की गई है। समारोह स्थल पर आठ फायर टेंडर तथा एसकेएम में एक फायर टेंडर की प्रतिनियुक्ति की गई है। 25 अग्निशमन दस्ते को भी तैनात किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.