आज से इंटर का प्रैक्टिकल, परीक्षा केंद्र पर कोरोना संक्रमण से बचाव की गाइडलाइन का पूरी तरह से करना होगा पालन, विशेष सतर्कता के निर्देश

खबरें बिहार की

पटना: इंटरमीडिएट वार्षिक प्रायोगिक परीक्षा के लिए तैयारी पूरी कर ली गई है। प्रदेश के 3123 सेंटरों पर परीक्षा कराई जाएगी, वहीं पटना में 167 केंद्र बनाए गए हैं। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने इसके लिए कंट्रोल रूम की भी स्थापना की है। 9 से 18 जनवरी तक चलने वाली प्रायोगिक परीक्षा के लिए हर स्तर पर तैयारी की गई है।

दावा किया जा रहा है कि कहीं से भी कोई गड़बड़ी नहीं हो पाएगी। परीक्षा में कोरोना महामारी से जनित परिस्थितियों के क्रम में सरकार द्वारा समय -समय पर जारी की गई गाइडलाइन का अनुपालन शिक्षण संस्थानों के स्तर पर सुनिश्चित किए जाने का निर्देश दिया गया है। कोरोना को लेकर विशेष रूप से सतर्कता बरतने को कहा गया है।

विद्यार्थियों को अलग से दिया गया एडमिट कार्ड

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनन्द किशोर ने बताया कि इंटरमीडिएट वार्षिक प्रायोगिक परीक्षा 2021 का आयोजन राज्य के कुल 3,123 प्रैक्टिकल केन्द्रों पर किया जा रहा है। पटना जिला में कुल 167 प्रैक्टिकल केन्द्र बनाए गए हैं। समिति द्वारा प्रैक्टिकल की परीक्षा के लिए विद्यार्थियों को अलग से एडमिट कार्ड जारी किया जा चुका है ।

सुविधा के अनुसार तय होगी तारीख

अध्यक्ष आनन्द किशोर का कहना है कि प्रायोगिक परीक्षा के आयोजन के संबंध में समिति द्वारा निर्देश जारी किया गया है कि सभी केन्द्राधीक्षक अपनी सुविधानुसार 9से 18 जनवरी के बीच किसी भी तिथि को किसी भी विषय की प्रायोगिक परीक्षा आयोजित कर सकेंगे, ताकि विद्यार्थियों को किसी प्रकार की कोई समस्या का सामना न करना पड़े।

कंट्रोल रूम सुबह 9 से शाम 6 बजे तक रहेगा सक्रिय

इंटरमीडिएट वार्षिक प्रायोगिक परीक्षा 2021 के सफल संचालन के लिए समिति द्वारा कन्ट्रोल रूम की स्थापना कर दी गयी है, जो 18 जनवरी तक पूर्वाह्न 9 बजे से शाम 6 बजे तक सक्रिय रहेगा। इस पर प्रायोगिक परीक्षा के दौरान किसी भी प्रकार की समस्या के लिए दूरभाष संख्या 0612-2230009 पर संपर्क कर समाधान प्राप्त किया जा सकता है ।

दिव्यांग परीक्षार्थियों के लिए लेखक की सुविधा

दिव्यांग परीक्षार्थियों के लिए लेखक ( writer ) रखने की सुविधा है। यह सुविधा लेने वाले परीक्षार्थियों को परीक्षा में अधिकतम 20 मिनट प्रति घण्टा का अतिरिक्त समय देने का भी प्रावधान है। साथ ही , दिव्यांग परीक्षार्थियों की सुविधा के लिए यथासंभव उनके बैठने की व्यवस्था ग्राउण्ड फ्लोर पर किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.