बिहार में आज से 5 से 10 पैसे बिजली महंगी, करें इस तरह बचत

खबरें बिहार की

पटना: बिजली एक अप्रैल से महंगी हो गई। बिहार विद्युत विनियामक आयोग ने इसमें 0.63 फीसदी बढ़ोतरी की है। इससे शहरी और ग्रामीण घरेलू उपभोक्ताओं के लिए प्रति यूनिट बढ़ोतरी पांच से दस पैसे के बीच हुई है। शहरी घरेलू बिजली उपभोक्ताओं के लिए प्रति यूनिट बढ़ोतरी 5 से 10 पैसे के बीच है। 0 से 100 यूनिट तक पांच पैसे और 100 से 200 यूनिट तक दस पैसे की बढ़ोतरी हुई है। पहले 100 यूनिट के लिए 6.05 रुपये प्रति यूनिट की दर से भुगतान करना होता था। अब एक अप्रैल से नई दरें लागू होने पर 0 से 100 यूनिट के बीच अब 6.10 रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से भुगतान करना होगा। 101 से 200 यूनिट के लिए मौजूदा 6.85 रुपये प्रति यूनिट की तुलना में 6.95 रुपये प्रति यूनिट चुकाना होगा। 201 से 300 यूनिट के स्लैब को समाप्त कर दिया गया है। अब 300 यूनिट से अधिक बिजली खपत पर प्रति यूनिट 8.05 रुपये लगेंगे। इसमें सब्सिडी 1.83 रु कम कर बिजली बिल का भुगतान करना होगा। पहले 300 यूनिट से अधिक बिजली खपत पर 8.50 रु प्रति यूनिट लग रहा था। सब्सिडी मिलने पर 6.67 रु प्रति यूनिट लगता था। अब 300 यूनिट से अधिक बिजली खपत पर कम शुल्क लगेगा। 8.05 रु प्रति यूनिट बिजली शुल्क और सब्सिडी मिलने पर 6.22 रु प्रति यूनिट लगेंगे।

इस तरह बचाएं बिजली बिल

अप्रैल का महीना शुरू हो चुका है। गर्मी बढ़ती जा रही है। ऐसे में पंखे, एसी और फ्रिज जैसे ज्यादा बिजली खपत करने वाले उपकरणों का इस्तेमाल बढ़ जाता है। आमतौर पर ठंड की तुलना में गर्मियों के मौसम में बिजली का बिल बढ़कर 2 से 3 गुना तक ज्यादा हो जाता है। गर्मियों में बिजली के बिल को लेकर ज्यादातर लोग परेशान रहते हैं। बिजली विशेषज्ञ दिलीप कुमार सिंह के अनुसार अगर आप इस बढ़े हुए बिजली के बिल को कुछ कम करना चाहते हैं तो अभी से कुछ उपाय अपनाने से आपके बिजली का बिल 20 से 30 फीसदी तक कम हो सकता है

घर से बाहर निकले तो बल्ब या अन्य उपकरणों को बंद कर दें

-एसी का इस्तेमाल करते हैं तो उसका सर्विसिंग जरूर करा लें या फिल्टर अच्छे से साफ कर लें

-एलईडी बल्ब या पंखे का इस्तेमाल करें

– फ्रिज को हवादार खुले जगहों पर रखने पर बिजली की कम खपत होती है

– घर में भी अनावश्यक बिजली का उपयोग न करें

सही फ्रिज का करें चयन, इतनी होगी बचत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *