बिहार के पूर्व DGP गुप्‍तेश्‍वर पांडेय का नया अवतार, बचपन के दोस्त से मिलकर भावुक हुए, कहा- ऐसी सरलता को सलाम

खबरें बिहार की

Patna: बिहार के पूर्व पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) गुप्‍तेश्‍वर पांडेय बीते कुछ दिनों से नए अवतार में नजर आ रहे हैं। इसी की ताजा कड़ी में उन्‍होंने फेसबुक पर अपने गांव के बचपन के एक दोस्त से बातचीत का वीडियो पोस्‍ट करते हुए लिखा है कि कोरोनावायरस संक्रमण के कारण इन दिनों वे गांव में आनंद ले रहे हैं। भौतिकवादी अपसंस्कृति के विस्तार एवं प्रभाव के बावजूद गावों में अभी भी सरल मन के निश्छल लोग मिल जाते हैं। वे दोस्ती को खून के रिश्ते से अधिक बड़ा मानते हैं। गुप्‍तेश्‍वर पांडेय ने लिखा है कि दोस्‍त की निश्छल बातों से वे भावुक हो गए।

अपने फेसबुक पोस्‍ट में गुप्‍तेश्‍वर पांडेय लिखते हैं कि कोरोना  के कारण धार्मिक कथाएं फरवरी से बंद हैं तो वे ईन दिनों अपने गांव में हैं। भौतिकवादी अपसंस्कृति के प्रसार के बावजूद गावों में अभी भी सरल चित्त के निश्छल लोग मिल जाते हैं। उन्‍होंने लिखा है कि उनके बचपन के दोस्त विजय भाई दोस्ती को खून के रिश्ते से अधिक गहरा मानते हैं, जिनकी निश्छल बातों से वे भावुक हो गए। दोस्‍त के लिए वे लिखते हैं कि उनकी साधुता और सरलता पर कोई भी बिक जाएगा। ऐसे लोगों को ही भगवान मिलते हैं।

गुप्‍तेश्‍वर पांडेय अपने दोस्‍त से बातचीत करते हुए पूछते हैं कि अगर कोई उन्‍हें लाठी से पीटने लगे तो वे क्‍या करेंगे? इसपर दोस्‍त कहते हैं कि वे उन्‍हें बचा लेंगे। अपने ठेठ देसी अंदाज में कहते हैं- तू भुला जा, अब तु ऊ नइख। पहिले रह डीजीपी, अब हो गइल महाराज जी, देवता जी। (आप भूल जाएंगे, अब आप पहले जैसे नहीं रहे। आप पहले डीजीपी थे, अब देवता हो गए हैं।) दोस्‍त ने गुप्‍तेश्‍वर पांडेय को देवता इसलिए कहा कि अब वे साधु हो गए हैं।

विदित हो कि गुप्‍तेश्‍वर पांडेय बिहार के पूर्व डीजीपी हैं। उन्‍होंने पुलिस सेवा से इस्‍तीफा देकर राजनीति में एंट्री की कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिली। इसके बाद वे साधु बन गए। गुप्‍तेश्‍वर पांडेय अब देश में घूम-धूमकर धार्मिक प्रवचन देते हैं। कोरोना काल में बंद पड़े धार्मिक आयोजनों के कारण वे अपने गांव में हैं। गांव का ही उनका एक और वीडियो भी वायरल है, जिसमें वे अपनी मां के साथ मस्‍ती के मूड में हैं। उस वीडियो में भी उन्‍होंने मां के सरल हृदय को दिखाने की कोशिश की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.