बालू ढोने वाले वाहनों में अनिवार्य हुआ GPS, मिट्‌टी के लिए कराना होगा रजिस्ट्रेशन

खबरें बिहार की

पटना : बगैर जीपीएस तकनीकी से लैस वाहन बालू नहीं ढो पाएंगे। खान एवं भूतत्व विभाग मे बालू ढोने वाले वाहनों के लिए जीपीएस लगाना अनिवार्य कर दिया है। इसके अलावा उन्हें ई-लॉक करना भी अनिवार्य होगा। अब बालू के साथ-साथ गिट्‌टी, मिट्‌टी और लाइमस्टोन जैसी सामग्री ढोने के लिए राज्य सरकार ने कड़े प्रावधान लागू कर दिए हैं।

खान एवं भूतत्व विभाग ने ऐसे वाहन मालिकों को 15 अक्टूबर तक का समय दिया है। उन्हें इस अवधि में अपने वाहनों में जीपीएस तकनीक के साथ-साथ ई-लॉक सिस्टम लगा लेना होगा। हालांकि इस तकनीक के उपयोग के लिए विभाग की ओर से व्यवस्था की जाएगी। संबंधित वाहन मालिकों को विभाग से संपर्क करना होगा। विभाग जीपीएस तकनीक के उपयोग के लिए विशेष कार्ययोजना पर काम कर रहा है।

उधर, राज्य सरकार ने मिट्‌टी के व्यवसाय को भी कर के दायरे में लाने के लिए कड़े प्रावधान किए हैं। टैक्स के प्रावधान के बावजूद लोग मिट्‌टी के व्यवसाय में सरकार को कोई टैक्स नहीं देते हैं। अब विभाग ने इसका अनुपालन कड़ाई से करने का फैसला किया है। सरकार ने नियम बना दिया है कि जिन्हें भी मिट्‌टी का व्यवसाय करना है, उन्हें इसके लिए परमिट लेना होगा। साथ ही क्रेता या विक्रेता को रजिस्ट्रेशन कराना होगा। निबंधित जमीन के मालिक से ही साधारण मिट्‌टी ली जा सकेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.