बाढ़ से अब तक 13 लाख लोग चपेट में, 367 लोगों की मौत

खबरें बिहार की

सारण जिले के संग्रामपुर गांव में पानी के कटाव से मंगलवार रात रिंग बांध टूट गया। जिससे चार गांव में बाढ़ आ गई। भटगाई, मौलनापुर, संग्रामपुर और परौना गांव में चारों तरफ पानी फैल गया है।

जिससे करीब 7 हजार की आबादी प्रभावित हो गया है। बमुश्किल गंडक नदी से एक फीट पानी बढ़ने पर दबाव बन गया और रिंग बांध कटावग्रस्त हो कर टूट गया। इससे गांव में आवागमन बाधित है।

वहीं तरैया-अमनौर मुख्य सड़क एसएच 73 पर भी फुटानी बाजार के समीप बना पुल तेज पानी में बह गई है। जिससे आवागमन पूर्णतः बाधित हो गया है। फरीदपुरा, बेलहरी, पचरौर, रसीदपुर, मंझोपुर, अकुचक आदि गांव डूब गए हैं। इन गांवों का संपर्क भी टूट गया। अभी सभी नदियों में पानी का स्तर नीचे खिसका है।




वहीं बाढ़ से पिछले 24 घंटे में 26 और लोग मरे। और 13 लाख लोग बाढ़ की चपेट में आए। बुधवार को बाढ़ से अब तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 367 हो गई। एनडीआरएफ, एसडीआरएफ तथा सेना की कुल 51 टीमें राहत व बचाव कार्य में जुटी हैं।

आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक 19 जिलों के कुल 185 प्रखंड बाढ़ से प्रभावित है। 1.59 करोड़ की आबादी बाढ़ की परेशानी झेल रही है। बाढ़ प्रभावित जिलों में सिवान, दरभंगा, शिवहर, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, सहरसा, सारण, खगड़िया, समस्तीपुर, पूर्णिया, सुपौल, किशनगंज, कटिहार, अररिया, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, मधुबनी, मधेपुरा, सीतामढ़ी शामिल है।




डूबने से 15 और लोगों की मौत

बुधवार को मोतिहारी व मुजफ्फरपुर में 4-4, समस्तीपुर 3, सीतामढ़ी और दरभंगा में 2-2 लोग डूब गए। घनश्यामपुर के लगमा गांव में नाव पलट गई। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष गोपालजी ठाकुर बाल-बाल बच गए।






















 

Leave a Reply

Your email address will not be published.