रात को भूखे पेट सोने वालों को भर पेट भोजन देने की कोशिश में महिता, प्रतिदिन हज़ारों लोगों को फ्री में पहुंचती है खाना

सच्चा हिंदुस्तानी
  • मकसद है उन लोगों तक भोजन पहुंचाना जो रात को भूखे पेट सोने पर विवश हैं…
  • कार्यक्रम के पहले ही दिन 4,454 मील्स की हो चुकी थी व्यवस्था…
  • 11 दिनों में ही लगभग 1,22,937 मील्स की व्यवस्था….
  • महिता फर्नाडिंज ने शुरू किया ‘फीड योर नेबर’ का कार्यक्रम…

हम आए दिन अपने आसपास कई चीज़ों को देखते हैं। उनमें से कुछ चीज़ों की ओर हमारा ध्यान जाता है, हमारा मन भी करता है कि हम इस दिशा में कुछ करें लेकिन किसी न किसी वजह से नहीं कर पाते।

लेकिन यह भी सच है कि कई लोग उन छोटी-छोटी खटने वाली चीज़ों को गंभीरता से लेते हैं और दृढ़ इच्छा शक्ति के माध्यम से उस दिशा में काम भी करते हैं।

वे लोग काम शुरु करते हैं और फिर धीरे-धीरे कारवां बनता चला जाता है और इस कारवां में वे लोग भी शामिल हो जाते हैं जिन्होंने कभी न कभी इस विषय में काम करने के लिए सोचा होता है।

ऐसा ही एक छोटा सा अहसास बैंगलूरु की महिता फर्नाडिज को हुआ, जब एक दिन उन्हें बहुत तेज भूख लगी थीं और उन्हें तुरंत कुछ खाने को नहीं मिल पा रहा था। तब महिता ने सोचा कि मेरे पास सब कुछ है।

एक अच्छी नौकरी, पैसा घर में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं है। लेकिन जब उन लोगों को जब भूख लगती होगी जिनके पास न रहने के लिए घर है न खाने के लिए दो पैसे। जो दो वक्त की रोटी के लिए तरसते रहते हैं।

वे अपनी भूख से कैसे लड़ते होंगे? इस प्रश्न ने महिता को इस दिशा में सोचने पर विवश कर दिया। यही सब सोचते हुए उन्होंने तय किया कि वे कुछ ऐसा जरूर करेंगी जिससे गरीब लोगों की भूख मिट सके।
महिता एक उद्यमी हैं जो पिछले पांच सालों से बैंगलोर में बच्चों के लिए ‘चिल्ड्रन एक्टिविटी एरिया’ चला रही हैं। उनका एक सात साल का बेटा हैं और वे अपनी जिंदगी से काफी संतुष्ट हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.