पिता फेरी लगाकर कपड़े बेचते थे, UPSC में किशनगंज के अनिल को मिला 45वां रैंक

बिहारी जुनून

Patna: किशनगंज शहर के नेपालगढ़ कॉलोनी के रहने वाले अनिल बसाक का चयन यूपीएससी में हुआ है। अनिल को यूपीएससी में ऑल इंडिया रैंक 45 मिला है। उनका चयन आईएएस के लिए हुआ है। अनिल का यह तीसरा प्रयास था। पहले प्रयास में पीटी में भी सफल नहीं हुए थे और दूसरे प्रयास में उन्हें 616 वां रैंक मिली थी।

लेकिन अनिल की आईएएस बनने की तमन्ना ने उनके हौसले को हारने नहीं दिया। इस बार अनिल ऑल इंडिया 45वीं रैंक लाकर सफल हुए हैं। अनिल के पिता बिनोद बसाक कपड़े की फेरी लगा कर गांव-गांव बेचते थे। अनिल चार भाईयों में दूसरे नंबर पर हैं। अनिल के पिता की माली हालत ऐसी नहीं थी कि वे देश के प्रतिष्ठित यूपीएससी जैसे परीक्षा में शामिल होते। आर्थिक स्थिति खराब होने के बाद भी अनिल बसाक ने हार नहीं मानी।

अनिल का चयन वर्ष 2014 में आईआईटी दिल्ली में सिविल इंजीनियरिंग के लिए हुआ था। अनिल बसाक ने बताया कि उनके पिता, सुभाष वर्मा सर व जयशंकर सर ने यूपीएससी की तैयारी के लिए प्रेरित किया। अनिल ने आठवीं तक की पढ़ाई किशनगंज शहर के ओरियेंटल पब्लिक स्कूल से, वर्ष 2011 में अररिया पब्लिक स्कूल से मैट्रिक, 12वीं बाल मंदिर सीनियर सेकेंड्री स्कूल किशनगंज से पूरी की। अनिल ने दूरभाष पर बताया कि वे दूसरे प्रयास में सफल हुए थे।

लेकिन और भी बेहतर रैंक के लिए उन्होंने इस वर्ष भी प्रयास किया और सफल हुए। सच्ची लगन व ईमानदारी से किये गए प्रयास से हर हाल में सफलता मिलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *