फल्गु नदी पर इसी साल बनेगा रबर डैम, अब श्रद्धालुओं को तर्पण और पिंडदान में नहीं होगी परेशानी

खबरें बिहार की जानकारी

जल संसाधन मंत्री संजय झा ने कहा कि फल्गु नदी में लीन पीरियड में भी कम से कम दो फीट पानी रखने की व्यवस्था हो रही है। साथ ही नदी के अतिक्रमित भाग को भी मुक्त कराने का निर्देश दिया गया है। पानी की व्यवस्था के लिए रबर डैम जल्द ही बनकर तैयार हो जाएगा। मंत्री शुक्रवार को राजेंद्र प्रसाद गुप्ता के ध्यानकार्षण सूचना पर विधान परिषद में सरकार की ओर से वक्तव्य दे रहे थे।

उन्होंने कहा कि फल्गु नदी में सतही जल का प्रवाह मानसून अवधि के कुछ भाग को छोड़कर प्राय: नगण्य रहता है। इस कारण श्रद्धालुओं को तर्पण एवं पिंडदान करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। जल संसाधन विभाग इसके निदान के लिए विष्णुपद मंदिर के निकट फल्गु नदी में लीन पीरियड में भी कम से कम 2 फीट जल संचयन के लिए रबर डैम का निर्माण करा रहा है।

इसी के साथ बायें एवं दायें तट को जोड़ने एवं आवागमन के दृष्टिकोण से रबर डैम के ऊपर फुट ओवर ब्रिज, तट सुरक्षात्मक कार्य, घाट एवं बोरवेल का निर्माण कराया जा रहा है। उम्मीद है यह काम इसी साल पूरा हो जाएगा। कहा कि नदी में गिरने वाले पानी के ट्रीटमेंट का भी अनुरोध किया गया है। गया शहरी क्षेत्र के मनसरवा नाला एवं अन्य नाला का सीवेज विष्णुपद मंदिर के अपस्ट्रीम में फल्गु नदी में गिरता है।

गया के जिला पदाधिकारी व प्रधान नगर विकास सचिव तथा बुडकों के प्रबंध निदेशक को नाले के पानी को फल्गु नदी में प्रवाहित नहीं कर वहां बनने वाले सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट पर ले जाने का निर्देश दिया गया है। जल को शोधित कर पईन में प्रवाहित करने की डीपीआर तैयार करने को कहा गया है। शोधित पानी को सिंचाई हेतु इस्तेमाल किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.