आईलैशेज घने बनाने से लेकर स्ट्रेच मार्क्स हटाने तक, इन 5 तरीकों से करें कैस्टर ऑयल का इस्तेमाल

खबरें बिहार की जानकारी

गुणों की खान होने के कारण कैस्टर ऑयल (Caster oil) यानी अरंडी के तेल का उपयोग मेडिशनल और कॉस्मेटिक्स में किया जाता है। यह फेस और स्किन के लिए फायदेमंद है। यह एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटी बैक्टीरियल होता है और इसमें मॉइश्चराइजिंग गुण होते हैं। यदि आप अपनी सुंदरता बढ़ाने के लिए कैस्टर ऑयल का इस्तेमाल करना चाहती हैं, तो आपकी मदद करने के लिए हेल्थ शॉट्स यहा है। आइए जानें कि आप किस तरह कर सकती हैं कैस्टर ऑयल का इस्तेमाल।

यह तेल बालों, त्वचा, होंठ के लिए भी अच्छा है। यह आपके नेचुरल ब्यूटी प्रोडक्ट्स में शामिल होकर आपकी सुंदरता को बढ़ा सकता है। इसके लिए आपको जानना होगा कि इस तेल का प्रयोग किस तरह किया जा सकता है।

इस्तेमाल से पहले ध्यान दें 

ध्यान रखें कि यह तेल गाढ़ा होता है। इसलिए स्किन को इसे अब्जॉर्ब करने में समय लगता है। इसलिए तेल में किसी अन्य तेल को मिलाकर पतला कर लें। इससे अब्जाॅर्बशन बढ़ जाता है।

कैस्टर ऑयल का अब्जॉर्बशन रेट बढ़ाने के लिए ऑलिव ऑयल, कोकोनट ऑयल या मूंगफली के तेल को भी मिला सकती हैं। तेल की मात्रा का अनुपात 1:1 होना चाहिए। इसका मतलब है कि कैस्टर या अरंडी के तेल की मात्रा उतनी ही होनी चाहिए जितनी कि उस तेल में जिसके साथ इसे मिलाया जाता है।

1 मजबूत बालों के लिए इस तरह करें कैस्टर ऑयल का इस्तेमाल 

यदि आपके बाल रूखे और बेजान हो गए हैं, तो कैस्टर ऑयल का प्रयोग कर सकती हैं।

किसी अन्य तेल के साथ कैस्टर ऑयल को मिलाकर बनाए गए तेल की कुछ बूंदें  हाथों में लेकर मलें और उन्हें अपने स्कैल्प पर लगाएं।

बालों के पार्टीशन और सिर के अलग-अलग भागों में भी तेल से मालिश की जा सकती है।

इससे न सिर्फ बाल टूटने-झड़ने से बच सकते हैं, बल्कि बालों की बनावट में भी सुधार हो सकता है।

इसे नारियल तेल के साथ मिलाकर लगाना अच्छा होता है, क्योंकि अकेले इसे लगाने पर बालों से तेल निकालना मुश्किल हो जाता है।

रात को सोने सेे पहले फेस की स्किन साफ कर लें।

फिर तेल से चेहरे की मसाज कर लें।

कैस्टर ऑयल की गंध अच्छी नहीं होती है। साथ ही यह गाढ़ा भी होता है। इसलिए कैरियर ऑयल के साथ मिलाकर फेस पर अप्लाई करें।

नारियल तेल, बादाम तेल और ऑलिव ऑयल यानी जैतून के तेल को कैरियर ऑयल की तरह प्रयोग करें।

अतिरिक्त मॉइस्चराइजिंग प्रभाव के लिए इसे शिया बटर के साथ मिलाकर लगाया जाता है।

इसे रात भर के लिए लगा हुआ छोड़ दें।

इस मिश्रण में एक भाग कैस्टर ऑयल और तीन भाग कैरियर ऑयल होना चाहिए।

यह स्किन को हाइड्रेट करके झुर्रियों की समस्या को दूर करता है। इसके लिए कैस्टर ऑयल और ऑलिव ऑयल को मिला कर रोज चेहरे की मसाज करें।

 

3 होंठों का कालापन दूर करने के लिए कैस्टर ऑयल 

रोज रात में लगाने पर कैस्टर ऑयल लगाकर सोने से होंठ गुलाबी हो जाते हैं।

इसमें मौजूद ह्यूमेक्टेंट्स स्किन की नमी बनाए रखने में मदद करते हैं। हाइड्रेशन को बढ़ावा देने के लिए इस तेल को होठों और त्वचा पर लगाया जा सकता है। होठों पर सीधे अरंडी का तेल लगाया जा सकता है। बाजार में कई हर्बल लिप बाम भी मिलते हैं, जिसमें कैस्टर मौजूद होता है।

1 टी स्पून कैस्टर ऑयल, 1 टी स्पून कोकोनल ऑयल, आधा टीस्पून विटामिन ई तेल मिलाकर होंठ पर लगाए जा सकते हैं। इससे कालापन दूर होता है।

होंठों को गुलाबी बनाने के लिए रोजाना इस मिश्रण से रात में सोने से पहले मसाज करना चाहिए।

4 आईलैशेज को घना बनाने के लिए कैस्टर ऑयल 

गंदगी या मेकअप से मुक्त करने के लिए आईलैशेज पर कैस्टर ऑयल का प्रयोग किया जाता है।

एक कॉटन स्वैब को कैस्टर ऑयल में डुबोएं। इसे पलकों के ऊपर चलाएं।

आंखों को बंद कर लें, ताकि तेल आंखों के अंदर न जाए।

सुबह गर्म पानी से धो लें और एक साफ तौलिये से पोंछ लें।

यदि आईलैशेज को घना करना चाहती हैं, तो हर रात बिना नागा किए इसका इस्तेमाल करें। लगभग 3-5 महीने में आईलैशेज घने दिखने लगते हैं।

5 स्ट्रेच मार्क्स खत्म करने के लिए कैस्टर ऑयल 

प्रेगनेंसी के बाद हुए स्ट्रेच मार्क्स को ये ऑयल ठीक कर सकता है।

प्रेगनेंसी के बाद कमर और पेट पर स्ट्रेच मार्क्स हो जाते हैं। इन निशानों की जगह पर रोज रात में 15-20 मिनट कैस्टर ऑयल से मसाज करें। इसके बाद पानी से साफ कर लें।

नियमित तौर पर इसका उपयोग करने से सट्रेच मार्क्स चले जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.