एक विवाह एेसा भी, हेलमेट पहनकर दूल्हा-दुल्हन ने डाली वरमाला, जानिए वजह

कही-सुनी

पटना:  शादी में जयमाल के दौरान लड़के ने हेलमेट पहना। अतिथियों को भेंट स्वरूप हेलमेट दिए और मंडप में सात फेरों के बाद आठवां फेरा सड़क सुरक्षा के नाम पर लिया। यह सब सिर्फ इसलिए कि हमारी-आपकी जान सड़क हादसों में न जाए। सिवान के नवदंपती की इस अनूठी पहल की चर्चा हर ओर हो रही है।

रामगढ़ निवासी बेनी माधव सिंह की बेटी शिंपी सिंह की शादी 27 अप्रैल को सिसवन थाना क्षेत्र अंतर्गत घूरघाट निवासी संदीप कुमार के साथ हुई। शिंपी के मामा संदीप कुमार दिल्ली पुलिस में कांस्टेबल के पद पर कार्यरत हैं और लोगों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करते रहते हैं। इसी से प्रेरित होकर शिंपी ने भी अपनी शादी में लोगों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करने का निर्णय लिया।

शिंपी ने बताया कि उसने शादी से पहले संदीप से शर्त रखी थी कि वह शादी के दिन लोगों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करेंगी। इसके बाद संदीप ने भी उसके इस फैसले का स्वागत कर कदम से कदम मिलाने की हामी भरी।

जयमाल के बाद संदीप ने पहना हेलमेट और दिया संदेश

एक तरफ शिंपी की बरात को लेकर पूरे परिजन खुश थे तो दूसरी तरफ शिंपी भी अपनी तैयारी में लगी हुई थी। शिंपी का साथ उसके पति संदीप ने दिया। बरात आई, जयमाल की रस्म शुरू हुई। जयमाल के बाद जैसे ही अतिथि उपहार लेकर मंच पर चढ़े शिंपी ने लेने से मना कर दिया और उन्हें पास में रखा एक हेलमेट अपनी ओर से उपहार स्वरूप भेंट किया।

शिंपी ने उसी समय अतिथियों को वाहन चलाते समय यातायात नियमों का पालन करने की सलाह भी दी। साथ ही हेलमेट और सीट बेल्ट हमेशा लगाने का अनुरोध किया।

51 अतिथियों को दिए गए रंग -बिरंगे हेलमेट

दिल्ली पुलिस में बतौर हेड कांस्टेबल तैनात शिंपी के मामा ने बताया कि हमलोगों ने 51 हेलमेट खरीदे थे। जिन्हें अतिथियोंं को दिया गया और उन्हें बताया गया कि वे इसे पहन कर अपने तथा अपने परिवार की सुरक्षा कर सकते हैं। वर-वधू के इस पहल का सभी ने स्वागत किया।

फेरे के दौरान लिया संकल्प

शिंपी के परिजनों ने बताया कि शिंपी और संदीप जब सात फेरे ले रहे थे तो दोनों ने सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन स्वयं करने और दूसरों को जागरूक करने का संकल्प लिया। दोनों ने सड़क सुरक्षा नियमों के नाम पर आठवां फेरा भी लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.