पूरे देश के लिए बिहार गांव-गांव में बिजली पहुंचाने के मामले में बना रोल मॉडल

खबरें बिहार की

बिहार स्टेट पावर होल्डिंग कंपनी के निदेशक प्रशासन सह साउथ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के एमडी आर लक्ष्मणन ने कहा कि ग्रामीण विद्युतीकरण के मामले में बिहार देश के लिए रोल मॉडल बना है। यह काम बिजली कर्मियों की बदौलत संभव हो सका है। अब बिजली कंपनी का लक्ष्य क्वालिटी बिजली सप्लाई देने के साथ शत प्रतिशत राजस्व वसूली करना है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए सभी को मिलकर काम करना होगा।

वे गुरुवार को बिहार-झारखंड राज्य विद्युत परिषद फील्ड कामगार यूनियन द्वारा मंडपम हॉल में आयोजित कामगार एवं कामगार श्रेणी से प्रोन्नत अधिकारी-अभियंता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। कर्मचारियों की मांगों के संबंध में बात करते हुए आर लक्ष्मणन ने कहा कि बिजली कंपनी ने अपने कर्मचारियों को सबसे पहले सातवां वेतन का लाभ दिया है। अन्य सभी मांगों को जल्द पूरा किया जाएगा। कंपनी के जीएम एचआर राजीव रंजन सिन्हा ने कहा कि कर्मचारियों को स्वास्थ्य बीमा, विभागीय परीक्षा सहित अन्य मांगों को विस्तार से प्रकाश डाला। बिहार स्टेट पावर ट्रांसमिशन कंपनी के जीएम एचआर आरएन लाल ने भी संबोधित किया।

कामगार यूनियन ने रखीं मांगें:
बिहार-झारखंडविद्युत परिषद फिल्ड कामगार यूनियन के महासचिव अमरेंद्र प्रसाद मिश्र ने फ्रेंचाइजी और एजेंसी की प्रथा समाप्त करने, उनके कर्मियों का समायोजन करने, ग्रेड-पे के आधार पर वेतन पुनरीक्षण करने सहित कर्मचारियों के अन्य मांगों को रखा। मौके पर इलेक्ट्रिसिटी इम्प्लाइज फेडरेशन ऑफ इंडिया के महासचिव प्रशांत नंदी चौधरी, नूर मोहम्मद, अनंत देव शरण, पंकज कुमार आदि उपस्थित थे।

















Leave a Reply

Your email address will not be published.