एक विवाह ऐसा भी: तिलक में दिया गया पौधे का उपहार, पर्यावरण संरक्षण का लिया गया संकल्प |

संस्कृति और परंपरा

चम्पारण सत्याग्रह के शताब्दी वर्ष के अवसर पर गांधी के सपनो का भारत को बेहतर बनाने के लिए आज जिले में तिलक समारोह में अनोखी परम्परा की शुरुआत की गई उक्त अवसर पर बक्सर जिले के कोइरपुरवा की रहने वाली इंदुशेखर प्रसाद की इकलौती पुत्री कुमारी नेहा की शादी भोजपुर जिले के जगदीशपुर निवाशी उमेश सिंह के पुत्र दीपक कुमार के साथ तय हुई जो भारतीय रेलवे में अभियन्ता के तौर पर कार्य करते है | उक्त शादी के मौके पर उपहार स्वरुप लड़की के प्रत्येक भाइयो के द्वारा एक एक पेड़ देकर एक अनोखी परम्परा का शुरुवात की गई जो अपने आप में अदभुत एवम् अकल्पनीय है | विदित हो की 22 अप्रैल को पृथ्वी दिवस मनाया गया इसी से प्रेरित हो कर लड़की के भाई डॉ. सुरेन्द्र कुमार , रंजीत कुमार,विपिन कुमार, चन्दन कुमार, ई. रोहित कुमार, ई. शशि शेखर एवम् ई. राज शेखर द्वारा दूल्हे को तिलक में एक- एक पौधा दान दिया गया | उक्त अवसर पर मौजूद वर एवम् वधु पक्ष द्वारा पर्यावरण को बचाने के लिए पेड़ लगाने हेतु संकल्प लिया गया |

Leave a Reply

Your email address will not be published.