एक दिन में कितने फल खाना सेफ? जानिए बहुत ज्यादा Fruit खाने के नुकसान और बेस्ट विंटर फ्रूट्स की लिस्ट

जानकारी

कुछ फलों में शुगर की मात्रा कम होती है तो कुछ में बहुत अधिक कैलोरी होती है जो सेहत के लिए हानिकारक हो सकती है. डायबिटीज के मामले में बहुत अधिक फल खाने से ब्लड शुगर लेवल काफी बढ़ सकता है. हेल्दी लोगों के मामले में फल खाने से वजन बढ़ सकता है. शुगर को कभी भी किसी के लिए हेल्दी विकल्प के रूप में नहीं देखा जाता है. फिर भी ऐसे कई लोग हैं जो अभी भी नियमित रूप से व्हाइट रिफाइंड शुगर का सेवन करते हैं.

फलों में भी शुगर होती है, लेकिन यह फ्रुक्टोज है एक प्राकृतिक रूप से पाई जाने वाली शुगर जो किसी भी तरह से सुरक्षित होती है, जिसका लोग आमतौर पर डेली पर सेवन करते हैं. जैसे अनहेल्दी खाने की अधिकता खराब होती है, वैसे ही हेल्दी भोजन की अधिकता भी उलटा असर कर सकती है. अधिक फल खाने से क्या होता है यह जानने के लिए पढ़ते रहें.

ज्यादा फल खाने के साइड इफेक्ट | Side Effects Of Eating Too Much Fruit

सेब या जामुन जैसे फल अपने फाइबर और विटामिन सी सामग्री के साथ हाइड्रेशन प्रदान करते हैं, लेकिन दूसरी ओर उन्हें बहुत अधिक खाने या उन्हें अन्य फूड ग्रुप्स के साथ बदलने की कोशिश करना, फैट और प्रोटीन के बजाय अधिक चीनी और कार्बोहाइड्रेट खाना अच्छे से अधिक नुकसान कर सकता है. यह लंबे समय में पोषक तत्वों की कमी और कई अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है.

  • हाई ब्लड शुगर लेवल
  • वजन बढ़ना
  • मोटापा
  • डायबिटीज का खतरा
  • पोषक तत्वों की कमी
  • पाचन की समस्या
  • गैस और सूजन
  • चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम (IBS)
  • दिन में कितने फल खाना सुरक्षित है? | How Many Fruits A Day Is It Safe To Eat?

    कहा जाता है कि एक दिन में फलों की केवल चार से पांच सर्विंग ही लेनी चाहिए. हेल्दी या अनहेल्दी किसी भी मामले में संयम अच्छा खाने और हेल्दी और रोग मुक्त रहने की कुंजी है. फलों के साथ-साथ ढेर सारी सब्जियां, साबुत अनाज, फलियां, प्लांट-प्रोटीन और लीन मीट खाने की सलाह दी जाती है.

  • सर्दियों के लिए सबसे अच्छे फल | Best Fruits For Winter

    • चकोतरा
    • अनार
    • संतरे
    • केले
    • क्रैनबेरी
    • अनन्नास
    • खुरमा
    • कीवी
      • सेब

        अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.