गाँधी सेतु का पूर्वी लेन अगले साल मार्च तक बनकर होगा तैयार, मिलेगी जाम से राहत

खबरें बिहार की

Patna: पटना से उत्‍तर बिहार का सफर अगले वर्ष के मार्च तक काफी हद तक आसान हो जाएगा। इससे पहले पटना और हाजीपुर के बीच बने महात्‍मा गांधी सेतु के निर्माणाधीन दूसरे लेन का काम पूरा हो जाएगा। पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने गुरुवार को निर्माणाधीन लेन के निरीक्षण के बाद यह बात कही। 2024 तक महात्‍मा गांधी सेतु के समांतर चार लेन के नए पुल का निर्माण भी पूरा हो जाने की उम्‍मीद है। इसके बाद तो महात्‍मा गांधी सेतु पर जाम लगने की संभावना खत्‍म ही हो जाएगी। इसके बाद पटना में पीपा पुल बनाने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी।

नए पुल के एप्रोच रोड की ही लंबाई 14 किलोमीटर से अधिक

मंत्री ने बताया कि गांधी सेतु के डाउन स्ट्रीम लेन को तोडऩे का काम लगभग पूरा हो चुका है। सुपर स्ट्रक्चर के निर्माण का काम चल रहा। पथ निर्माण मंत्री ने कहा कि निर्माणाधीन लेन में स्पैन का काम 93 प्रतिशत काम पूरा हो गया है। पियर कैप का काम भी 50 प्रतिशत तक हो गया है।

पथ निर्माण मंत्री ने गांधी सेतु के समानांतर बनने वाले चार लेन पुल के निर्माण का भी निरीक्षण किया। इस दौरान उन्हें वेल फांउडेशन तकनीक की जानकारी दी गयी। गांधी सेतु के समानांतर बन रहे पुल के एप्रोच रोड की लंबाई 14.5 किमी है। मुख्य सेतु 5.6 किमी का है। संभावना है कि वर्ष 2024 तक इस पुल का निर्माण कार्य भी पूरा हो जाएगा। इस पर 2926 करोड़ रुपए खर्च होंगे।

पटना से हाजीपुर को जोड़ने पर खर्च हो रहे 15 हजार करोड़

पथ निर्माण मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बिहार के लिए घोषित पैकेज के तहत यह निर्माण कार्य हो रहा। अकेले पंद्रह हजार करोड़ रुपए केवल पटना से हाजीपुर को जोडऩे पर खर्च हो रहे। निरीक्षण के दौरान पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा, मुख्य अभियंता नीरज सक्सेना, गंगा ब्रिज के कार्यपालक अभियंता व पथ निर्माण के एनएच उपभाग के सहायक अभियंता  अमरेंद्र कुमार भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.