डॉ रणदीप गुलेरिया, जो AIIMS में कर रहे हैं पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजेपयी का इलाज,पहले भी निजी चिकित्सक रह चुके हैं.

जानकारी

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत बेहद नाज़ुक है और इस वक्त वह दिल्ली के एम्स में भर्ती है. यहां उन्हें लाइफ सपोर्ट पर रखा गया है. एम्स की तरफ से जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार उनकी हालात लगातार बिगड़ी हुई है. उनकी सेहत में कोई सुधार नहीं दिख रहा है. पूर्व प्रधानमंत्री अटली जी एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया की निगरानी में हैं. इससे पहले भी रणदीप गुलेरिया उनके निजी चिकित्सक रह चुके हैं.

दरअसल, रणदीप गुलेरिया अभी वर्तमान में दिल्ली एम्स के निदेशक हैं और उन्हें 2017 में ही अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्‍स) का नया निदेशक नियुक्त किया गया. डॉ. गुलेरिया 1992 में सहायक प्रोफेसर के तौर पर एम्स से जुड़े थे. वह अप्रैल, 2011 से पल्मोनरी मेडिसीन एवं स्लीप डिसऑर्डर विभाग के अध्यक्ष थे.

 

अटल बिहारी वाजपेयी के अलावा प्रमुख पुलमोनोलॉजिस्ट डॉ रणदीप गुलेरिया ने केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज और अरुण जेटली का भी इलाज किया है. 2015 में भारत सरकार द्वारा उन्हें चौथे सर्वोच्च भारतीय नागरिक पुरस्कार पद्मश्री से सम्मानित किया गया. वह सेंट कोलंबिया स्कूल, दिल्ली के पूर्व छात्र रहे हैं.

डॉ. रणदीप गुलेरिया एम्स में पल्मोनोलॉजी और स्लीप डिसऑर्डर विभाग के प्रमुख भी हैं. इन्हें एम्स में देश का पहला पल्मोनरी मेडिसीन और स्लीप डिसऑर्डर सेंटर स्थापित करने का श्रेय दिया जाता है. गौरतलब है कि गुलेरिया को पिछले साल मार्च में 5 साल के लिए एम्स का निदेशक नियुक्त किया गया था.

बता दें कि अटल बिहारी की हालत अभी काफी नाजुक है. उनके परिवार और रिश्तेदारों को भी एम्स बुला लिया गया है. साथ ही मंत्रियों का एम्स आना जाना लगा है. मोदी कैबिनेट के कई मंत्री एम्स में मौजूद हैं. अटल जी के घर के बाहर भी धारा 144 लागू कर दी गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.