भारत की लाइफ लाइन कही जाने वाली भारतीय रेलवे अपने यात्रियों का सफर आसान बनाने के लिए काफी सारे बदलाव करता रहता है। यात्रियों की हर छोटी से छोटी शिकायत को रेलवे गंभीरता से ले रहा है। वहीं, यात्रा को आसान बनाने के लिए और बिना किसी चिंता के सफर करने के लिए भी भारतीय रेलवे का एक खास नियम है। मसलन, अब जैसे त्योहारों का मौसम है तो इस समय लोग दूर के सफर के लिए टिकट बुक कराते है, लेकिन पहले से ही इतनी वेटिंग होती है कि ज्यादातर लोगों की टिकट कन्फर्म नहीं हो पाती है। इसका नतीजा ये होता है कि लोग टाइम पर अपने डेस्टिनेशन पर नहीं पहुंच पाते। 

टिकट कन्फर्म ना होने पर लोग ट्रेन में सफर नहीं करते, ये सोच कर की यह गैर-कानूनी है। मगर रेलवे की एक खास स्कीम है। इंडियन रेलवे मुसाफिरों की सुविधआ के लिए इस स्कीम को चलाता है। ऑनलाइन ट्रेन टिकट बुक करते वक्त अगर किसी वजह से पैसेंजर का टिकट वेटिंग लिस्ट में होता है तो ऐसे पैसेंजर्स को एक ऑप्शन दिया जाता है। इस ऑप्शन की मदद से पैसेंजर बिना टिकट कन्फर्म हुए भी ट्रेन में सफर कर सकता है। इसके लिए कोई अलग से चार्ज भी नहीं लिया जाता। मीडिया रिपोर्ट की माने तो इस नियम को रेलवे ने दो साल पहले शुरू किया था।

जानिए- नियम
टिकट कन्फर्म नहीं होने की स्थिति में रेलवे पैसेंजर्स को एक विकल्प देता है। इसके तहत पैसेंजर्स को यह सुवि‍धा दी जाती है कि अगर उस ट्रेन में टिकट कन्फर्म नहीं हुई तो कि‍सी दूसरी ट्रेन में कन्फर्म टि‍कट दी जाएगी। रेलवे ने इस सुवि‍धा का नाम ‘विकल्‍प’ ही रखा है। इस स्कीम में टिकट बुक करनी है या नहीं यह पूरी तरह से पैसेंजर्स पर निर्भर करता है। सफर के लिए बुकिंग करते वक्त इस विकल्प को चुनना होता है।

क्या कन्फर्म टिकट मिल पाएगा?
बता दें कि ऑनलाइन बुकिंग करते वक्त ‘विकल्‍प’ चुनने का मतलब ये नहीं होगा कि आपको कि‍सी और ट्रेन में कन्फर्म टि‍कट मि‍ल ही जाएगा। यहां भी ट्रेन में सीट की उपलब्‍धता पर निर्भर रहेगी बात। इस सुवि‍धा से जुड़े कई नि‍यम भी हैं, जैसे कि‍स स्‍टेशन से ट्रेन पकड़नी है और कहां तक आपको सीट मि‍लेगी।

इस विकल्प नियम का काफी फायदा है। वेटिंग लिस्ट में शामिल सभी यात्रियों को यह फायदा मिलेगा। बता दें कि स्कीम में पैसेंजर्स को एक बार में 5 ट्रेनों का वि‍कल्‍प मिलता है। हालांकि, यह ध्यान रहे कि सिर्फ उन यात्रियों को ही इस सुविधा का फायदा मिल पाएगा, जिनका नाम चार्ट बनने के बाद भी वेटिंग लि‍स्‍ट में हो। इसमें अच्छी बात यह भी है कि यदि आप किसी और ट्रेन में सवार हो भी जाते है तो आपको वहां कोई भी एक्स्ट्रा चार्ज नहीं देना होगा।

Sources:-Dainik Jagran

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here