डीएम और उनकी पत्‍नी को देख खुद को रोक नहीं पाए भोजपुर के एसपी, फिर जो हुआ बजने लगी तालियां

खबरें बिहार की जानकारी

पुलिस का कड़क अंदाज अक्‍सर नजर आता है। लेकिन भोजपुर जिले के एसपी संजय कुमार सिंह का अलग मिजाज शुक्रवार की रात दिखा। ऐसे सुरीले हुए कि लोग तालियां बजाने को मजबूर हो गए। उनका वीडियो भी खूब सुर्खियां बटोर रहा है। एसपी साहब का ये अलग रूप देख लोग कायल हो गए। उनका वीडियो वायरल हो रहा है।

भोजपुर डीएम की शादी की सालगिरह में लगाया चार चांद

अवसर था भोजपुर के जिलाधिकारी राजकुमार और उनकी पत्‍नी डॉली की शादी की 19वीं सालगिरह का।  सारण के रिविलगंज क्षेत्र के निवासी आइएएस अधिकारी राजकुमार बतौर डीएम भोजपुर जिले में कार्यरत हैं। शुक्रवार (25 नवंबर) को शादी की सालगिरह थी। रात में डीएम के आवासीय परिसर में ही पूरा कार्यक्रम आयोजित था। गीत-संगीत का भी कार्यक्रम था। जिले के पुलिस से लेकर प्रशासनिक अफसर तक आमंत्रित किए गए थे। करीबी मित्र और सगे-संबधी भी मौजूद थे।

गीत-संगीत कार्यक्रम के दौरान अपने को नहीं रोक पाए एसपी

संगीत कार्यक्रम के दौरान पुलिस कप्तान अपने को नहीं रोक सके। बस फिर क्‍या था बढ़ चले स्‍टेज की ओर। माइक थामी तो सभी हैरानी भरी नजरों से उन्‍हें देखने लगे। लेकिन जैसे ही उन्‍होंने तान छेड़ी, फिर तो श्रोताओं को मुग्‍ध होना ही था। डीएम साहब और मैडम की ओर देखते हुए उन्‍होंने विनोद खन्‍ना पर फिल्‍माया गया बप्‍पी लाहिड़ी का वह प्रसिद्ध गाना गा दिया। दिल में हो तुम, सांसों में तुम, बोलो तुम्‍हें कैसे चाहूं, पूजा करूं, सजदा करूं…। एसपी साहब के गायन का सिलसिला कार्यक्रम में चार चांद लगाता रहा। वह एक से बढ़कर एक गीतों की प्रस्‍तुत‍ि देते रहे।

मूल रूप से यूपी के बलिया ज़िला निवासी 2012 बैच के आइपीएस अधिकारी संजय सिंह मई महीने से यहां बतौर एसपी कार्यरत हैं। उन्होंने छह महीने के अंदर पुलिसिंग से अलग हटकर भी अपने कुशल व्यवहार से लोगों के दिलों में अच्छी जगह बनाई है।

पवन सिंह और अक्षरा के साथ अवकाश की आई याद

चार साल पूर्व यानी 2018 में भोजपुर के तत्कालीन एसपी अवकाश कुमार ने भी चर्चित भोजपुरी गायक पवन सिंह और अक्षरा सिंह के साथ स्टेज साझा करते हुए ‘गोरिया चांद के अंजोरिया नियन गोर बाड़ू हो . गाकर काफी चर्चा बटोरी थी। एसपी के आवासीय परिसर में ही कार्यक्रम आयोजित था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.