दिवाली से पहले बिहार आने वाली ट्रेनें फुल, दिल्ली से पटना फ्लाइट का किराया 25 हजार पहुंचा

खबरें बिहार की जानकारी

दिवाली पर दिल्ली से बिहार आने के लिए लोगों को खासी मशक्कत करनी पड़ रही है। अधिकतर ट्रेनों में सीटें फुल हैं और रिजर्वेशन भी बंद हो गया है। इसलिए फ्लाइट के टिकट की डिमांड भी बढ़ गई है। ऐसे में दिल्ली से पटना का विमान किराया आसमान पर पहुंच गया है। 24 अक्टूबर सोमवार को दिवाली है और 22 अक्टूबर को शनिवार है। वीकेंड होने की वजह से अधिकतर लोग शनिवार को बिहार पहुंचना चाह रहे हैं। यही वजह है कि शनिवार को अधिकतर विमान फुल हो गए हैं और जिसमें सीटें बची हैं उनमें टिकटें बेतहाशा महंगी हो गई हैं।

इस बार दीपावली से ठीक पहले दिल्ली-पटना रूट पर विमान किराये में बेतहाशा वृद्धि देखी जा रही है। सामान्य दिनों में इस रूट पर किराया पांच हजार से 5500 के बीच रहता है। 22 अक्टूबर को पटना आने वाली एक फ्लाइट का किराया 25 हजार के पार पहुंच गया है। 22 अक्टूबर को विस्तारा की सुबह आठ बजे की फ्लाइट संख्या यूके 717 का किराया 24 हजार 960 रुपये है।

दिवाली और छठ की वजह से अधिकतर विमान में सीटें फुल हो गई हैं। अन्य विमानों में किराया भी 17 हजार के पार है। इस दिन सबसे कम किराया 13 हजार के आसपास है। विस्तारा की ही एक अन्य फ्लाइट यूके 715 का किराया 12 हजार 885 रुपये है। 12 सितंबर को हिन्दुस्तान की पड़ताल में इस रूट पर 22 अक्टूबर का अधिकतम किराया 14 हजार 249 रुपये था, जबकि न्यूनतम किराया 11 हजार 940 रुपये। इसी रूट पर 21 अक्टूबर को अधिकतम किराया 21 हजार के आसपास है। 22 अक्टूबर को बेंगलुरु-पटना रूट पर विमानों का किराया 21 हजार के आसपास है।

ट्रेनों में लगा नो रूम का बोर्ड तो विमान किराया आसमान पर पहुंचा 

यात्रा विशेषज्ञों का कहना है कि दिवाली-छठ में अक्सर विमानों का किराया बढ़ जाता है लेकिन इस बार की यह बढ़ोतरी बेतहाशा है। दरअसल डिमांड बढ़ने से किराये में वृद्धि होती है। साथ ही लंबी दूरी की अधिकतर ट्रेनों में नो रूम या भारी वेटिंग होने की वजह से विमानन कंपनियां मुनाफा कमाने की कोशिश में लगी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.