डायबिटीज रोगियों के लिए रामबाण हैं ये 3 योगासन, कंट्रोल रहता है शुगर लेवल

खबरें बिहार की जानकारी

आजकल लोगों की खराब जीवनशैली, शारीरिक रूप से एक्टिव ना रहना, मोटापा और खान-पान की गलत आदतों की वजह से ज्यादातर लोग मधुमेह या डायबिटीज के शिकार हो रहे हैं। आज के समय में देश की एक बड़ी आबादी इस रोग की चपेट में है। शरीर में पेंक्रियाज जब इंसुलिन का उत्पादन बंद कर देता है तो व्यक्ति के शरीर में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ने लगती है और वो डायबिटीज का शिकार हो जाता है। अगर आप भी डायबिटीज के रोगी हैं तो अपने रूटीन में ये 3 योगासन जरूर शामिल करें।

डायबिटीज कंट्रोल करने वाले योगासन-


हलासन: 
हलासन करने के लिए सबसे पहले अपनी पीठ के बल लेटें अपने हाथों को साइड में रखते हुए धीरे-धीरे अपने पैरों को ऊपर उठाएं अपने पैरों को सीधा रखते हुए ऊपर लाना जारी रखें। अपने पैरों को अपने सिर के ऊपर ले जाए और अपने पैर की उंगलियों को सिर के ऊपर जमीन पर रखें। इस स्थिति के दौरान आपकी पीठ को भी फर्श से ऊपर उठाना चाहिए। इस स्थिति को 15-20 सेकंड के लिए होल्ड करके शरीर को रिलीज करें। इस प्रकिया को कुछ देर बार दोबारा करें।

सावधानी: ऐसी महिलाएं जो गर्भवती हैं या डायरिया, हाई बीपी या कमर दर्द से पीड़ित लोग इस आसन को ना करें। इसके अलावा आसन करते समय अपनी गर्दन पर दबाव बिल्कुल ना बनाएं।

सेतुबंधासन: सेतुबंधासन करने के लिए अपने हाथों को अपने हाथों से छत का सामना करते हुए जमीन पर लेट जाएं। धीरे-धीरे अपने कूल्हों को जमीन से ऊपर उठाएं। इस बिंदु पर फर्श को छूने वाली एकमात्र चीज आपका ऊपरी धड़, सिर, हाथ और पैर होना चाहिए। इस स्थिति को 10 सेकंड के लिए रखें और 4-5 दोहराएं।

सावधानी: अगर हाल ही में आपकी किसी तरह सर्जरी हुई है तो इस आसन को बिल्कुल ना करें। साथ ही कमर दर्द और स्पाइनल प्रॉब्लम में भी यह आसन करने से बचें।

भुजंगासन: फर्श पर लेट जाएं और चेहरा जमीन की ओर रखें। अब अपनी हथेलियों को अपनी तरफ रखते हुए धीरे-धीरे अपने धड़ को ऊपर उठाएं। इस बिंदु पर केवल शरीर के हिस्से जमीन को छूते हुए आपकी हथेलियां और निचले शरीर को 30 सेकंड के लिए इस स्थिति में रखें और छोड़ें दिन में 3-4 बार दोहराएं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.