haryanas-cm-khatkar-fluttered-hc

हिरासत में डेरा के 1000 गुंडे, 32 की मौत, 200 घायल

राष्ट्रीय खबरें

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख दोषी करार, 28 अगस्त को होगी सजा पर सुनवाई डेरा सच्चा सौदा प्रमुख दोषी करार, 28 अगस्त को होगी सजा पर सुनवाई

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को रेप केस में दोषी करार दिया गया है. सीबीआई कोर्ट 28 अगस्त को राम रहीम की सजा पर सुनवाई करेगी. राम रहीम को दोषी करार देते ही उनके समर्थक बेकाबू हो गए हैं.

तोड़फोड़ और आगजनी कर रहे हैं. पुलिस और डेरा समर्थकों के बीच हुई हिंसा में कई लोगों की मौत हो गई है. समर्थकों ने मीडिया पर भी हमला बोल दिया है. आजतक की टीम पर हमले के साथ ही ओवी वैन तोड़ दी गई है. पंचकूला में सेना फ्लैग मार्च कर रही है.
अभी तक के UPDATES:

– डेरा प्रमुख पर कोर्ट के फैसले के बाद हुई हिंसा की राष्ट्रपति ने की निंदा. शांति बनाए रखने के लिए सभी नागरिकों से की अपील.

– डेरा समर्थकों की हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़कर 32 हो गई है.

– यूपी के गाजियाबाद, हापुड़, शामली, बागपत और फिरोजाबाद में धारा 144 लागू. आलाधिकारियों को किया गया अलर्ट.









– हरियाणा में हुई हिंसा से केंद्र सरकार नाखुश, खट्टर सरकार स्थिति संभालने में रही नाकाम, केंद्र द्वारा भेजे गई जवानों का भी सही से नहीं हुआ इस्तेमाल. सीएम मनोहर लाल खट्टर ने लोगों से की शांति की अपील.

– गृह मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक 200 से ज्यादा कंपनियां अब तक पंजाब और हरियाणा में भेजा जा चुका है. राजनाथ ने राजस्थान के सीएम से की बात.

– डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को रोहतक ले जाया गया, सुनरिया के पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज में रखा गया है.
– डेरा समर्थकों की हिंसा में अभी तक 26 लोगों की मौत. 13 पंचकूला और 12 चंडीगढ़ में हुई मौत.

– डेरा समर्थकों द्वारा हिंसा को देखते हुए ग्रेटर नोएडा और नोएडा में धारा 144 लागू, सभी अधिकारियों को हिंसा रोकने के सख्त निर्देश.

– डेरा प्रमुख के दोषी ठहराए जाने के बाद प्रवक्ता दिलावर इन्सां की अपील- हमारे साथ अन्याय हुआ है. हम इसकी अपील करेंगे. हमारे साथ वही हुआ जो इतिहास में गुरुओं के साथ हुआ. डेरा सच्चा सौदा मानवता भलाई के लिए है. सभी शांति बनाये रखें.




– दिल्ली के आनंद विहार रेलवे स्टेशन में खड़ी रीवा एक्सप्रेस के दो खाली डिब्बों में डेरा समर्थकों ने लगाई आग.
– हाईकोर्ट ने दिया आदेश- राम रहीम की संपत्ति जब्त कर की जाए नुकसान की भरपाई.

– हरियाणा, पंजाब, यूपी और दिल्ली में डेरा के गुंडों का तांडव.

– दिल्ली-एनसीआर तक पहुंची डेरा की आग, 7 जगहों पर हिंसा, सीएम अरविंद केजरीवाल ने शांति की अपील.
– गाजियाबाद के लोनी में डेरा समर्थकों ने बस में लगाई आग, मौके पर दिल्ली पुलिस और दमकल.

– हरियाणा में 224 और पंजाब में 64 जगहों पर हिंसा के बीच 25 लोगों की मौत और 200 के घायल होने की सूचना.

– गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पंजाब और हरियाणा के सीएम से बात कर हालात का जायजा लिया.




– पंचकूला के रिहाईशी इलाके में घुसे डेरा समर्थक, सेक्टर-5 के दफ्तर में किया तांडव, स्कूलों को भी नहीं छोड़ा
– सिरसा में पांच जगहों पर हिंसा की खबर, SWAT और RAF की टीम मौके पर पहुंची.

– हरियाणा के फतेहाबाद के तौहाना में नगर परिषद के ऑफिस में पेट्रोल बम से हमला.

– पंजाब के संघरुर के शुलार इलाके में तहसील ऑफिस पर डेरा समर्थकों का तांडव.

– पंजाब के मोंगा के दगरु रेलवे स्टेशन पर डेरा समर्थकों का हंगामा, पुलिस ने संभाला मोर्चा.

– पंचकूला, बठिंडा और फिरोजपुर में कर्फ्यू लगाया गया.

– डेरा समर्थकों को काबू में करने के लिए हवाई फायरिंग कर रही है पुलिस, आंसू गैस के गोले दागे



पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने आज आदेश दिया कि स्वयंभू बाबा गुरमीत राम रहीम सिंह के अनुयायियों द्वारा की जा रही हिंसा और आगजनी के कारण हुई क्षति की भरपाई डेरा सच्चा सौदा से करायी जाए। केंद्र सरकार के एक वरिष्ठ वकील ने बताया कि उच्च न्यायालय की एक पूर्ण पीठ ने डेरा प्रमुख के खिलाफ बलात्कार के एक मामले में सीबीआई अदालत के फैसले से उपजी स्थिति से निपटने के लिए हरियाणा सरकार को जरूरत पड़ने पर हथियार या बल का इस्तेमाल करने का भी निर्देश दिया।

अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल सत्यपाल जैन ने कहा कि पीठ 26 अगस्त को आगे की सुनवाई करेगी। मुख्य न्यायाधीश एस सिंह सरोन, न्यायमूर्ति अवनीश झिंगन और न्यायमूर्ति सूर्यकांत की पूर्ण पीठ पंचकूला के एक वकील द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया। याचिका में निषेधाज्ञा के बावजूद जिले में कथित रूप से 1.5 लाख से अधिक लोगों के प्रवेश करने के साथ कानून व्यवस्था को लेकर चिंता जतायी गयी है।




जैन के अनुसार अदालत ने आदेश दिया कि कोई भी राजनीतिक, सामाजिक या धार्मिक नेता कोई भड़काऊ बयान नहीं दे और अगर कोई ऐसा करता है तो उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाए। जैन ने कहा कि पीठ ने आदेश में कहा, ‘‘स्थिति से निपट रहे अधिकारी बिना भय के और निष्पक्षता के साथ अपना काम करे। अगर कोई अधिकारी कर्तव्य के निर्वहन में चूकता है तो उसके खिलाफ अदालत कड़ी कार्रवाई करेगी।’’



Leave a Reply

Your email address will not be published.