दिल्ली से दरभंगा की फ्लाइट का किराया दुबई से दोगुना, नीतीश के मंत्री बोले ये कैसी उड़ान स्कीम

खबरें बिहार की जानकारी

दिवाली और छठ पूजा से पहले दूसरे राज्यों में काम कर रहे बिहारियों में अपने घर आने की होड़ लगी है। इस कारण ट्रेनें फुल हैं और फ्लाइट का किराया आसमान पर पहुंच गया है। दिल्ली से दरभंगा के बीच चलने वाली नॉन स्टॉप फ्लाइट का किराया दिवाली से पहले 21 हजार रुपये से ज्यादा हो गया है। यह दुबई की फ्लाइट से लगभग दोगुना है। नीतीश सरकार में मंत्री संजय झा ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है।

बिहार के जल संसाधन मंत्री संजय झा ने कहा कि केंद्र सरकार की ये कैसी उड़ान योजना है। दिवाली से पहले दिल्ली से दरभंगा की नॉन स्टॉप फ्लाइट का टिकट 21,420 रुपये में, जबकि दिल्ली से दुबई की नॉन स्टॉप फ्लाइट का टिकट सिर्फ 11,690 रुपये में मिल रहा है।

मंत्री ने अपने ट्विटर अकाउंट पर दिल्ली से दुबई और दरभंगा के बीच 22 अक्टूबर की फ्लाइट्स के टिकट फेयर का स्क्रीनशॉट भी शेयर किया। इसमें दिल्ली से दरभंगा के बीच उड़ान भरने वाली स्पाइसजेट की नॉन स्टॉप फ्लाइट में इकनॉमी क्लास का किराया 21 हजार रुपये से ज्यादा दिखाया गया है। इसी दिन दिल्ली से दुबई के बीच एयर इंडिया की नॉन स्टॉप फ्लाइट का किराया लगभग साढ़े 11 हजार रुपये है, जबकि स्पाइसजेट के विमान में 12 हजार रुपये में टिकट मिल रहा है।

दिवाली-छठ से पहले टिकट की मारामारी

ट्रेन हो या फ्लाइट, अगर आप दिवाली और छठ पूजा से पहले बिहार आना चाहते हैं, तो टिकट मिलेगा या नहीं इस बात की कोई गारंटी नहीं है। क्योंकि दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, कोलकाता समेत अन्य शहरों से बिहार के विभिन्न शहरों में आने वाली अधिकतर ट्रेनें फुल हैं, वेटिंग लिस्ट 400 से ज्यादा हैं। रेलवे ने कुछ स्पेशल ट्रेनें भी चलाई हैं, उसके भी टिकट बुक हो गए हैं। रेलवे के टिकटों की कालाबाजारी हो रही है। तत्काल टिकट के लिए लोगों को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। यही हाल दिवाली और छठ के बाद बिहार से अन्य राज्यों में जाने वाली ट्रेनों का भी है।

ट्रेनें फुल होने से यात्री विमान समेत दूसरे विकल्पों पर विचार कर रहे हैं। दिवाली और छठ पूजा से पहले पटना, दरभंगा और गया आने वाली अधिकतर फ्लाइट्स में कुछ सीटें ही खाली हैं। डिमांड ज्यादा होने की वजह से विमानन कंपनियों ने किराया बढ़ाकर दो से पांच गुना तक कर दिया है। ऐसे में यात्रियों को मजबूरन महंगे टिकट खरीद कर त्योहार पर अपने घर आना पड़ रहा है।

क्या है उड़ान योजना?

पीएम नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने के बाद एनडीए सरकार ने गरीब और मध्यम वर्गीय लोगों को फ्लाइट की सुविधा मुहैया कराने के लिए उड़ान योजना शुरू की थी। इसका पूरा नाम ‘उड़े देश का आम नागरिक’ है। पीएम मोदी ने कहा था कि उड़ान योजना शुरू करने के पीछे उनका सपना है कि हवाई चप्पल पहनने वाला शख्स भी हवाई जहाज में सफर कर सके। इस योजना के तहत देश के छोटे-छोटे शहरों को विमान सेवा से जोड़ा जा रहा है। इसका उद्देश्य लोगों को सस्ता हवाई सफर मुहैया कराना है, छोटे एयरक्राफ्ट्स के जरिए फ्लाइट का किराया भी 2500 रुपये तक कम रखा जाए। ताकि आम आदमी भी हवाई सफर का लुत्फ उठा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.