दिल्ली डेयरडेविल्स को किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ मिली एक और हार के ये हैं पांच कारण !

Other Sports

इंडियन प्रीमियर लीग के ग्यारवें सीजन में सोमवार को कारवां दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में जा पहुंचा। सोमवार को दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में दिल्ली डेयरडेविल्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच मैच खेला गया। इस मैच में किंग्स इलेवन पंजाब ने 4 रनों से रोमांचक जीत हासिल की।

डेयरडेविल्स की 4 रनों की रोमांचक हार

दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान गौतम गंभीर ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। गौतम गंभीर के इस न्योते को स्वीकारते हुए किंग्स इलेवन पंजाब की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए दिल्ली की जबरदस्त गेंदबाजी के सामने 20 ओवर में 8 विकेट पर 143 रन ही बना सकी। इसके जवाब में दिल्ली डेयरडेविल्स ने अंतिम गेंद तक चले संघर्ष के बाद भी मैच को 4 रनों से गंवा दिया।

इस मैच में टर्निंग पॉइंट के तौर पर ये कारण आए सामने…

टॉस फैक्टर

मेजबान कप्तान गौतम गंभीर ने अपने घर में टॉस का बॉस बनने के साथ ही मेहमान टीम किंग्स इलेवन पंजाब को पहले बल्लेबाजी करने को कहा। गौतम गंभीर एक अदद जीत की तलाश में थे, लेकिन उनका ये फैसला किंग्स इलेवन पंजाब को कम स्कोर पर रोकने के बाद भी काम नहीं आया।

किंग्स इलेवन पंजाब की धीमी शुरूआत

किंग्स इलेवन पंजाब के लिए आज तूफानी फॉर्म में चल रहे क्रिस गेल मौजूद नहीं थे। क्रिस गेल के नहीं होने का असर किंग्स इलेवन पंजाब की पूरी पारी में नजर आया। किंग्स इलेवन की टीम के बल्लेबाज एक ओर तो तेजी के साथ रन नहीं जुटा सके तो साथ ही समय समय पर अपने विकेट खोते रहे। ऐसे में किंग्स इलेवन पंजाब के बल्लेबाज अपनी पारी में एक चुनौतीपूर्ण स्कोर भी नहीं कर सके।

लियाम प्लंकेट का आईपीएल डेब्यू पर जलवा

दिल्ली डेयरडेविल्स के तूफानी गेंदबाज रहे कगिसो रबाडा आईपीएल से पहले ही चोट के कारण बाहर हो गए। ऐसे में दिल्ली ने अंग्रेज गेंदबाज लियाम प्लंकेट को रिप्लेसमेंट के तौर पर चुना। प्लंकेट को दिल्ली ने पहले पांच मैचों में तो खेलने का मौका नहीं दिया। लेकिन इस मैच में प्लंकेट को मौरिस की जगह टीम में लिया गया। मौके को प्लंकेट ने दोनों हाथों से भुनाया जबरदस्त गेंदबाजी की। उन्होंने अपने चार ओवर में केवल 17 रन देकर 3 विकेट हासिल किए।

डेयरडेविल्स की भी खराब शुरूआत

दिल्ली डेयरडेविल्स को किंग्स इलेवन पंजाब से एक आसान लक्ष्य मिला था। ऐसे में माना जा रहा था कि दिल्ली डेयरडेविल्स इस मैच को जल्द ही अपनी मुठ्ठी में कर लेगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम इस छोटे से लक्ष्य में भी संघर्ष करती नजर आयी और 76 रनों के स्कोर तक तो आधी टीम पैवेलियन लौट गई।

किंग्स इलेवन पंजाब की कसी हुई गेंदबाजी

किंग्स इलेवन पंजाब की टीम दिल्ली के गेंदबाजों के सामने एक बड़ा स्कोर तो नहीं बना सकी। लेकिन जिस तरह से हर मैच में बल्लेबाजों ने जीत की जिम्मेदारी को संभाला तो इस बार गेंदबाजों को वहीं जिम्मेदारी निभानी थी। किंग्स इलेवन पंजाब के गेंदबाजों ने अपनी इस जिम्मेदारी को बखूबी संभाला और जबरदस्त गेंदबाजी करते हुए अपनी टीम को 4 रनों से रोमांचक जीत दिलायी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.