दरभंगा एयरपोर्ट पर शुरू होगी नाइट लैंडिंग सुविधा, रन-वे विस्तार के लिए जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया पूरी

खबरें बिहार की जानकारी

दरभंगा एयरपोर्ट पर रनवे के विस्तार और नाइट लैंडिंग सुविधा बहाल करने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की ओर से राज्य सरकार से मांगी गई 24 एकड़ जमीन के अधिग्रहण की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। इसमें 10 महीने का समय लगा है। जिला भू-अर्जन पदाधिकारी की ओर से सोमवार को संयुक्त सचिव, मंत्रीमंडल सचिवालय विभाग, बिहार सरकार को 24 एकड़ की शेष भूमि 17.10 एकड़ जमीन का प्रभार सौंप दिया गया है। अब वे इस जमीन को राज्य सरकार की ओर से एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को हस्तांरित कर सकेंगे। बता दें कि दरभंगा एयरपोर्ट पर नाइट लैंडिंग फैसिलिटी (प्रोवीजन ऑफ सीएटी-1 लाइटिंग सिस्टम) की स्थापना होने से रात में भी विमानों का आवागमन हो सकेगा। इससे उड़ानों की संख्या बढ़ाने और नये शहरों से उड़ान सेवा शुरू करने में सुविधा होगी।

सके अलावा रनवे का विस्तार होने से यहां बड़े विमानों की लैंडिंग भी हो सकेगी। दूसरी ओर लाइटिंग सिस्टम लग जाने से कोहरे में तथा खराब रोशनी के दौरान भी विमानों का सुचारू आवागमन संभव हो सकेगा। इससे एयरपोर्ट से सफर करने वाले यात्रियों की परेशानी दूर हो जाएगी।

जदयू नेता संजय झा ने फेसबुक पर लिखा कि हमें यह बताते हुए खुशी है कि दरभंगा एयरपोर्ट पर रनवे के विस्तार और नाइट लैंडिंग फेसिलिटी की स्थापना के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी द्वारा राज्य सरकार से मांगी गई 24 एकड़ जमीन के अधिग्रहण की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है।

अधिकारी ने बताया कि कुल 60 करोड़ 27.56 लाख रुपये की लागत वाली 24 एकड़ जमीन दरभंगा हवाई अड्डे के लिए उपलब्ध करा दी गयी है। इसी तरह दरभंगा एयरपोर्ट पर सिविल इनक्लेव के निर्माण के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी द्वारा राज्य सरकार से मांगी गई 54 एकड़ जमीन के अधिग्रहण की प्रक्रिया भी प्राथमिकता के आधार पर तेजी से चल रही है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन कोशिश कर रहा है कि 54 एकड़ के अधिग्रहण की प्रक्रिया भी फरवरी 2023 तक पूरी हो जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.