दक्षिण बिहार के आठ जिलों के लिए मौसम विभाग ने जारी किया येलो अलर्ट, बारिश नहीं हुई तो 43 तक जा सकता है पारा

जानकारी

दक्षिण बिहार में मौसम का गर्म तेवर बरकरार है हालांकि उत्तर बिहार में मौसम की नरमी है। पछुआ के वेग और सूरज के प्रचंड तेवर की वजह से राज्य के गया, औरंगाबाद, नवादा, रोहतास, कैमूर, बांका, जमुई और नालंदा में लू की स्थिति बनी हुई है। मौसम विभाग की ओर से इन जिलों में आठ अप्रैल तक के लिये येलो अलर्ट जारी किया गया है।

पटना में गुरुवार को दिनभर लू जैसी परिस्थितियां रहीं लेकिन शुक्रवार को पटना में सुबह में पुरवा का प्रभाव बनने से मौसम सुहाना रहा। सुबह नौ बजे तक आंशिक बादल छाये रहे और लोगों ने ठंडी हवाओं से राहत महसूस की। दिन में फिर से पछुआ हवा का प्रभाव बन सकता है। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार दक्षिण बिहार के झारखंड से सटे जिलों में लू की स्थिति अभी एक दो दिन बनी रहेगी।

अगले एक हफ्ते तक बारिश की स्थिति न बनने पर पारा 43 तक भी जा सकता है। मौसम विभाग ने सचेत कर कहा है कि नमी या अन्य वातावरणीय प्रभावों से रिकॉर्ड किये गए तापमान से भी ज्यादा गर्मी शरीर को महसूस हो सकती है। यह हीट स्ट्रोक की वजह बन सकता है। लोग सचेत रहें और घर से पानी पीकर बाहर निकलें। दोपहर में अनावश्यक बाहर जाने से बचें। उत्तर बिहार में पारा सामान्य के आसपास बना हुआ है। इस ओर पारा 34 से 36 डिग्री सेल्सियस के बीच बना रहेगा।

राजस्थान से आ रही हवा ने बढ़ाई गर्मी

मौसम विज्ञान केंद्र की ओर से चेतावनी जारी कर कहा गया है कि नौ अप्रैल तक दक्षिण बिहार के जिलों में बक्सर, कैमूर, रोहतास, गया, औरंगाबाद, जमुई, शेखपुरा, बांका व नवादा में लू की स्थिति बनी रहेगी। बारिश की स्थिति नहीं बनी तो यह समय और आगे भी खींच सकता है। झारखंड से सटे बिहार के जिलों में राजस्थान से आ रही गर्म हवाओं की वजह से और वातावरणीय परिस्थितियों की वजह से एक पैकेट बना है जहां सूरज की किरणों का साथ पाकर ताप और बढ़ जा रहा है। पटना में भी लोगों को दोपहर में सावधानी बरतने की सलाह दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.