चेन्नई में होने वाले सभी आईपीएल के मैच अब पुणे में कराए जाएंगे. चेन्नई पुलिस टीम स्टेडियम को सुरक्षा दे पाने से इनकार कर दिया था. आईपीएल चेयरमैन राजीव शुक्‍ला ने बताया कि स्‍थानीय पुलिस ने सुरक्षा देने से इनकार कर दिया. सीएसके चेन्‍नई से पुणे मैच शिफ्ट किए जाने के खिलाफ नहीं है. चेन्‍नई से बाहर मैच के लिए बीसीसीआई ने चार शहरों विशाखापट्टनम, राजकोट, तिरुवनंतपुरम और पुणे का चयन किया था. लेकिन पुणे को चुना गया क्‍योंकि एमएस धोनी यहां राइजिंग पुणे सुपरजाएंट के साथ खेल चुके हैं. बता दें कि चेन्‍नई दो साल के प्रतिबंध के बाद आईपीएल में वापस आई है.

चेन्नई सुपरकिंग्स का दूसरा मैच मंगलवार को शाहरुख खान की टीम कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ चेन्नई में हुआ था. इस मैच में कुछ प्रदर्शनकारियों ने जूते फेंके थे. ये जूते बाउंड्री के पास फील्डिंग कर रहे रवींद्र जडेजा के पास जाकर गिरे थे. मैच पर पहले ही कावेरी विवाद का साया मंडरा रहा था. दरअसल, तमिलनाडु में डीएमके और मनिथानाय मक्कल काची के सदस्य कावेरी प्रबंधन बोर्ड के गठन की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. दो दिन पहले रजनीकांत ने चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से अपील की थी कि इस फैसले के विरोध में वह और उनकी टीम काली पट्टी बांधकर मैच खेलें.

मिली थी स्टेडियम में प्रदर्शन की धमकी
चेन्नई में मंगलवार सुबह से ही प्रदर्शन हो रहे हैं. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि वे मैच के दौरान स्टेडियम में भी प्रदर्शन करेंगे. खिलाड़ियों और मैच की सुरक्षा के मद्देनजर तमिलनाडु पुलिस ने कई प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया था और स्टेडियम से करीब पांच किलोमीटर पहले से सिक्योरिटी चेक शुरू कर दिया था. आईपीएल प्रमुख राजीव शुक्ला ने केंद्रीय गृह सचिव राजीव गाबासे मिलकर मैच के दौरान कड़ी सुरक्षा की मांग की थी.

हमें IPL नहीं कावेरी मैनेजमेंट बोर्ड चाहिए
चेन्नई में TVK कार्यकर्ता एमके चिदंबरम स्टेडियम के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे. कार्यकर्ताओं के हाथ में काले रंग के बलून थे जिन पर लिखा था, “हमें IPL नहीं कावेरी मैनेजमेंट बोर्ड चाहिए.”

क्या है मामला
गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने कावेरी नदी के जल के बंटवारे में तमिलनाडु के हिस्से का पानी घटा दिया है और कर्नाटक का हिस्सा बढ़ा दिया था. इसके अलावा कावेरी जल प्रबंधन बोर्ड का अभी गठन नहीं हुआ. इन बातों को लेकर तमिलनाडु में विरोध प्रदर्शन जारी है. कुछ तत्वों ने कावेरी प्रबंधन बोर्ड (सीएमबी) और कावेरी जल नियामक समिति (सीडब्ल्यूआरसी) का गठन नहीं करने के लिए केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के लिए आईपीएल के मैचों के आयोजन के खिलाफ आंदोलन करने की धमकी दी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here