खर जमां ने छठे ओवर की आखिरी गेंद पर चौका जड़ने के साथ ही सर विव रिचर्ड्स के वनडे क्रिकेट इतिहास में सबसे कम पारियों में एक हजार रन पूरे करने के रिकॉर्ड पर पानी फेर दिया. चलिए एक बार फिर से नजर दौड़ा लीजिए किस-किस बल्लेबाज ने कितने मैचों की कितनी पारी में यह कारनामा किया.
पाकिस्तानी लेफ्टी बल्लेबाज फखर जमां आग उगल रहे हैं. पिछले मैच में उनके बल्ले से मानो रिकॉर्डों की बारिश हो गई. और इसके बाद पूरी दूनिया के क्रिकेटप्रेमियों की नजरें एक खास रिकॉर्ड पर आकर टिक गईं. हालांकि, विव रिचर्ड्स का यह रिकॉर्ड बचना एक असंभव सी बात थी. लेकिन आप सोचिए कि जिस रिकॉर्ड को सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली जैसे बल्लेबाज नहीं तोड़ सके, उस कारनामे को फखर जमां ने कर दिखाया.

चौथे मैच के बाद ही वैश्विक और स्थानीय मीडिया में इस बात को लेकर चर्चा थी कि फखर जमां जिंबाब्वे के खिलाफ बुलावायो में सीरीज के आखिरी और पांचवें वनडे में रिचर्ड्स को रिकॉर्ड को तोड़ ही देंगे. और फखर ने इसमें देर नहीं लगाई. रविवार को पाकिस्तान के टॉस जीतकर बल्ला थामने के बाद छठे ओवर की आखिरी ही गेंद पर उन्होंने 21वां रन बनाने के साथ ही सर विव रिचर्ड्स का 43 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया. पिछले 43 सालों में कई आतिशी और बखियाउधेड़ू बल्लेबाज पैदा हुए. जयसूर्या, वीरेंद्र सहवाग, ब्रायन लारा, एडम गिलक्रिस्ट और शाहिद आफरीदी. लेकिन इन दिग्गजों में कोई भी विव रिचर्ड्स के रिकॉर्ड्स को नहीं भेद सका.

फखर जमां ने छठे ओवर की आखिरी गेंद पर चौका जड़ने के साथ ही सर विव रिचर्ड्स के वनडे क्रिकेट इतिहास में सबसे कम पारियों में एक हजार रन पूरे करने के रिकॉर्ड पर पानी फेर दिया. चलिए एक बार फिर से नजर दौड़ा लीजिए किस-किस बल्लेबाज ने कितनी पारियों में यह कारनामा किया.

लेकिन अब पाकिस्तानी 28 साल के फखर जमां ने इस रिकॉर्ड पर अपना ऐसा नाम चस्पा कर दिया है, जिसे मिटा पाना किसी भी बल्लेबाज के लिए बहुत ही मुश्किल होगा. फखर ने यह कारनामा 18 पारियों में करते हुए तीन पारियों से रिचर्ड्स को पीछे छोड़ दिया. अब फखर के सामने चुनौती सबसे तेज 2000 रन की है. यह रिकॉर्ड हाशिम अमला के नाम पर है, जिन्होंने 41 मैचों की 40 पारियों में दो हजार रन पूरे किए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here