दोनो हाथों से गेंदबाजी करने वाला एक और बॅालर है भारतीय टीम में खेलने को तैयार, अक्षय कर्नेवर के पास है ये हुनर

Other Sports

क्रिकेट में ऐसे गेंदबाज आपने कम ही देखें होंगे जो दोनों हाथों से गेंदबाज़ी करते हैं। ये क्रिकेट के इतिहास में अनूठा नहीं हैं, लेकिन ऐसे मौके कम ही देखने को मिलें है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी ऐसा एक-दो बार ही देखने को मिला है जब गेंदबाज़ी ने दोनों हाथों से गेंदबाज़ी की हो।

दरअसल, तमिलनाडू प्रीमियर लीग के एक मैच में रविवार को वीबी कांची वीरंस और डिंडिगुल ड्रैगन्स के बीच खेले गए मैच में एक खिलाड़ी ने कुछ ऐसा ही किया। वीबी कांची वीरंस की ओर से खेलते हुए मोकित हरीहरन ने एक ही मैच में दोंनों हाथों से गेंदबाज़ी करते हुए सभी को चौंका दिया।

इस टी-20 मैच में स्पिन गेंदबाज़ मोकित हरिहरन ने दोनों हाथ से गेंदबाज़ी की। उन्होंने मैच में दाएं हाथ के बल्लेबाज़ों के सामने बाएं हाथ से गेंदबाज़ी की जबकि बाएं हाथ के बल्लेबाज़ों को उन्होंने दाएं हाथ से गेंदबाज़ी की। इस मैच में मोकित ने 4 ओवर में बिना कोई विकेट लिए 32 रन दिए। इसके साथ ही साथ हरिहरन ने बल्लेबाज़ी में कमाल दिखाते हुए नाबाद 77 रनों की पारी भी खेली।

अक्षय कर्नेवर के पास भी है ये हुनर
मोकित भारत के पहले ऐसे खिलाड़ी नहीं है जो दोनों हाथों से गेंदबाज़ी करने में सक्षम हों। इनसे पहले विदर्भ के स्पिन गेंदबाज़ अक्षय कर्नेवर भी ये कमाल कर चुके हैं। पिछले साल ऑस्ट्रेलिया की टीम जब भारत दौरे पर आई थी, तब बोर्ड अध्यक्ष एकादश के खिलाफ खेले गए अभ्यास मैच में अक्षय कर्नेवर ने एक ही ओवर में दोनों हाथों से गेंदबाजी करने का कमाल किया था। चेपॉक स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दोनों हाथों से गेंदबाजी करके उन्होंने सबको चौंका दिया था।


अक्षय कर्नेवर के दोनों हाथ से गेंदबाज़ी करने के पीछे एक कहानी है। दरअसल अक्षय ने अपने करियर की शुरुआत एक ऑफ स्पिन गेंदबाज़ के तौर पर की थी। लेकिन उनके कोच ने उनसे कहा कि नागपुर में लेफ्ट ऑर्म स्पिनर काफी कम ही देखने को मिलते हैं। इसके बाद उन्होंने दूसरे हाथ से गेंदबाजी शुरु कर दी। बस फिर क्या था, वो दोनों हाथों से गेंद फेंकने लगे और ये बल्लेबाज़ों के लिए सिरदर्द साबित होने लगा। जैसे-जैसे अक्षय का क्रिकेट करियर आगे बढ़ता गया उन्हें कई क्रिकेटरों से शाबाशी मिलने लगी।

नहीं रोकता है क्रिकेट का नियम
क्रिकेट के नियमों के मुताबिक कोई गेंदबाज अंपायर या बल्लेबाज को बिना बताए एक ही ओवर में लेग स्पिन या ऑफ स्पिन या फिर तेज गेंदबाजी कर सकता है। हां, अगर गेंदबाज एक ही ओवर में दो हाथों से गेंदबाजी करता है तो उसे पहले अंपायर को बताना होगा, वरना वह नो-बॉल मानी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.