कोविड केयर सेंटर पर सेवा के नाम पर 4 करोड़ की हेराफेरी, फिर से होगी जांच

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार के मुजफ्परपुर में कोरोना काल में सेवा के नाम पर हुए 4 करोड़ के घपले की जांच फिर से शुरू हो गयी है। मीनापुर प्रखंड में दो साल पहले कोविड केयर सेंटर के संचालन में हुए घोटाले की बात सामने आई थी। मामले में जांच एक बार फिर तेज होगी। मामले की जांच के लिए गठित कमेटी 28 जून को फिर से जांच करेगी। डीडीसी की अध्यक्षता में गठित टीम ने अधिकारियों को जांच के लिए तलब किया है। क्वारंटाइन सेंटर के संचालन में करीब चार करोड़ घोटाले का आरोप है, जिसे विधानसभा में भी उठाया गया था। विधानसभा सचिवालय के आदेश पर जिले में जांच की जा रही है।

ये पदाधिकारी किए गए तलब

अपर समाहर्ता डॉ अजय कुमार ने मामले की जांच के लिए पत्र जारी किया है। इसके लिए अपर समाहर्ता राजेश कुमार, जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के निदेशक चंदन चौहान व जिला लेखा पदाधिकारी को तलब किया गया है। 28 जून को इस मामले से संबंधित दस्तावेजों की जांच की जाएगी। क्वारंटाइन सेंटर के संचालन में करीब चार करोड़ की गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए मीनापुर विधायक ने विधानसभा में जांच की मांग की थी। इसके बाद इस मामले में निगरानी में भी मुकदमा दर्ज कराया गया था।

जांच में जिला प्रशासन की टीम ने पायी थी यह गड़बड़ी

इससे पहले जिला प्रशासन की एक टीम मामले की जांच कर चुकी है। निगरानी अदालत को दिए दस्तावेज में बताया गया है कि तत्कालीन अंचलाधिकारी ने क्वारंटाइन सेंटर के संचालन के लिए ऐसे फर्मों को करीब डेढ़ करोड़ का भुगतान किया, जिसका अस्तित्व ही नहीं है। इसके अलावा कई फर्मों की दी गई अग्रिम राशि का समायोजन नहीं किया। कई आपूर्तिकर्ताओं को बिना जीएसटी कटौती के भुगतान कर दिया गया। प्रशासनिक जांच में यह मामला सामने आने के बाद विधानसभा सचिवालय के आदेश पर एक बार फिर मामले की उच्चस्तरीय जांच की जा रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.