चुनिंदा रूट पर शुरू किए गए ट्रेन से बिहार आनेवाले यात्री स्टेशन से अपने गंतव्य स्थान या घर जा सकते हैं। घर जाने के लिए रेलवे द्वारा जारी ई टिकट ही पास के तौर पर मान्य होगा। स्टेशन से वह निजी या भाड़े की गाड़ी ले सकते हैं। बिहार सरकार ने ट्रेन से बिहार आनेवाले यात्रियों के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी कर दी है। 

गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी द्वारा जारी एसओपी के तहत रेलवे द्वारा जारी ई टिकट 12 घंटे के लिए मूवमेंट पास के तौर पर मान्य होगा। इसी टिकट का इस्तेमाल वह स्टेशन से आने या जाने के लिए कर सकते हैं। यात्री स्टेशन से अपने गंतव्य स्थान या घर जाने के लिए निजी वाहन, ऑटो, उबर या ओला सर्विस के साथ रिजर्व ई-रिक्शा का उपयोग कर सकते हैं। निजी दोपहिया वाहन भी मान्य होगा। यात्रा से पहले रेलवे द्वारा निर्धारित स्क्रीनिंग की जाएगी। साथ ही यात्रियों को मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग भी बनाए रखना होगा। 

ई टिकट का दूसरा कोई नहीं कर सकता इस्तेमाल 
राज्य सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि ई टिकट का इस्तेमाल दूसरे कोई व्यक्ति नहीं कर सकता है। रेल यात्री के अलावा कोई इसका इस्तेमाल करता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी। गृह विभाग ने पुलिस महानिदेशक, प्रमंडलीय आयुक्त, सभी जिलों के डीएम और एसपी को एसओपी का पालन सुनिश्चित कराने को कहा है।

ई टिकट दिखाकर लाने या पहुंचाने जा सकते हैं स्टेशन 
ट्रेन से आनेवाले यात्री के लिए ई टिकट को ही उनका मूवमेंट पास माना गया है। ऐसे में कोई व्यक्ति अपने रिश्तेदार या परिचत को लाने या स्टेशन पहुंचाने जाता है तो वह इसी ई टिकट का इस्तेमाल करेगा। यात्री अपना ई टिकट उस व्यक्ति के मोबाइल पर भेज देंगे। उसी को दिखाकर अगला व्यक्ति गाड़ी से स्टेशन जा सकता है। 

कैमूर से कटिहार तक विशेष श्रमिक ट्रेन  शुरू  
कैमूर जिले की सीमा पर दूसरे राज्यों से पैदल आने वाले प्रवासी श्रमिकों के लिए एक विशेष ट्रेन शुरू की गई है। यह ट्रेन अभी प्रतिदिन कर्मनाशा से कटिहार जाएगी। मंगलवार को यह दानापुर बरौनी होते हुए शाम 6 बजे कटिहार पहुंची। कैमूर बॉर्डर, कर्मनाशा स्टेशन से यह ट्रेन 1320 यात्रियों को लेकर सुबह 9.30 बजे खुली व दानापुर जंक्शन 12.35 बजे, बरौनी जंक्शन दोपहर 3 बजे और कटिहार जंक्शन पर शाम 6 बजे पहुंची। दानापुर, बरौनी और कटिहार जंक्शन पर सम्बद्ध जिलों के यात्री उतरे और वहां से बस द्वारा प्रखंड क्वारंटाइन सेंटर तक पहुंचाया गया। दानापुर जंक्शन पर पटना, अरवल, जहानाबाद, नालंदा, नवादा, हाजीपुर, मुजफ्फरपुर, सारण, सीतामढ़ी, शिवहर, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, सीवान, गोपालगंज के यात्री उतरे। 

बरौनी जंक्शन पर बेगूसराय, खगड़िया, समस्तीपुर, मुंगेर, लखीसराय, भागलपुर, बांका, शेखपुरा, जमुई, दरभंगा, मधुबनी के यात्री उतरे। कटिहार जंक्शन पर मधेपुरा,सहरसा, सुपौल,अररिया, किशनगंज, पूर्णिया और कटिहार के यात्री उतरे। शेष जिलों के यात्रियों का परिवहन पूर्व की भांति कैमूर की सीमा से बसों द्वारा औरंगाबाद, बक्सर, भोजपुर, रोहतास एवं गया जिले के लोगों को उस जिले में सीधे पहुंचाया गया।  

Sources:-Hindustan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here